BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर के SKMCH में Corona पॉजिटिव मरीज की मौत, परिजनों ने डॉक्टर पर की थप्पड़-घूसों की बरसात

मुजफ्फरपुर। एसकेएमसीएच में मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव 60 वर्षीय बुजुर्ग की मौत के बाद स्वजनों ने हंगामा किया। उनका आरोप था कि ऑक्सीजन की कमी से उनकी मौत हुई है। इस दौरान इलाज कर रहे डॉक्टर की भी पिटाई कर दी। डॉक्टर किसी तरह वार्ड से जान बचाकर भागे। सुरक्षा गार्ड के पहुंचने पर स्वजन शव छोड़कर भाग निकले।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ.बीएस झा व उपाधीक्षक डॉ.गोपाल शंकर सहनी ने भी मामले की जानकारी ली। इस दौरान अहियापुर थाना की पुलिस, एडीएम राजेश कुमार व मजिस्ट्रेट विकास कुमार भी एसकेएमसीएच पहुंच गए। स्वजनों से अधीक्षक डॉ. बीएस झा ने जानकारी ली तो कहा कि दिन से ही ऑक्सीजन का लेवल कम था। कई बार डॉक्टर व नर्स से इसे बढ़ाने की बात कही गई, लेकिन किसी ने नहीं सुना।

Sponsored


Sponsored

आरोप लगाया कि ऑक्सीजन की कमी से बुजुर्ग की मौत हो गई। हालांकि अधीक्षक ने कहा कि 250 ऑक्सीजन के सिलेंडर मिल रहे हैैं। इसमें सभी को ऑक्सीजन दी जा रही है। अस्पताल की ओर से 500 सिलेंडर की मांग की गई है। ऐसे में मरीज की डिमांड से ऑक्सीजन देना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि शव को कोविड प्रोटोकॉल के तहत स्वजनों को सौंपा जा रहा है।

Sponsored


Sponsored

एसकेएमसीएच में इलाज में लापरवाही का वीडियो वायरल
मुजफ्फरपुर : एसकेएमसीएच में इलाज में लापरवाही सामने आ रही है। मंगलवार रात साढ़े आठ बजे एसकेएमसीएच में इलाज में की जा रही लापरवाही का वीडियो वायरल हुआ। एक युवती ने एसकेएमसीएच से वीडियो बनाकर अधिकारियों से गुहार लगाई है कि उनके पिता का इलाज एसकेएमसीएच में चल रहा है, जिसमें लापरवाही की जा रही है। उनके पिता का ऑक्सीजन स्तर कम कर दिया गया है। उससे उनकी स्थिति बिगड़ रही है।

Sponsored


Sponsored

उसने कई बार डॉक्टरों से जाकर कहा गया, लेकिन कोई भी सुनने को तैयार नहीं है। युवती ने अधिकारियों से गुहार लगाई है कि कोई उनकी मदद करके पिता का ऑक्सीजन लेवल बढ़वा दे। एसकेएमसीएच अधीक्षक डॉ.बीएस झा ने बताया कि ऑक्सीजन लेवल कितना रहना चाहिए इसकी जानकारी डॉक्टर को रहती है। स्वजन मरीज को देखकर डर जाते हैं इसलिए ऐसा आरोप लगा रहे हैं। वह मामले की जानकारी करते हैं। वहां पर किस मरीज को कितनी ऑक्सीजन चाहिए यह व्यवस्था है।

Sponsored

Ads

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: JNN

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here