BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

विधान परिषद के कर्मियों की कोरोना से मौत, 15 पॉजिटिव मिलने के बाद कार्यालय 18 अप्रैल तक बंद

बिहार में कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में कई लोग आ रहे हैं. राजधानी पटना में हालात सबसे ज्यादा खतरनाक है. कोरोना महामारी से जुड़ी हुई इस वक्त एक ताजा अपडेट सामने आया है. बिहार विधान परिषद में कोरोना का जबरदस्त संक्रमण देखने को मिल रहा है. परिषद में काम करने वाले 15 कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

बिहार विधान परिषद की ओर से मिली आधिकारिक जानकारी के मुताबिक परिषद में काम करने वाले दो सहायकों की मौत हो गई है. सहायक अरुण राम की मौत के बाद एक और सहायक की मौत हो गई है, जिनका नाम विजेंद्र बताया जा रहा है. विधान परिषद में कोरोना टेस्ट जारी है. बताया जा रहा है कि मंगलवार को 150 लोगों की टेस्टिंग कराई गई है, जिसमें से लगभग 15 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इस आंकड़े के मुताबिक परिषद् में काम करने वाले हर दसवां कर्मी कोरोना की चपेट में आ गया है. क्योंकि संक्रमण का दर 10% माना जा रहा है.

Sponsored


Sponsored

गौरतलब हो कि विधान परिषद में सोमवार को अरुण राम के लिए शोक सभा का आयोजन किया गया. उन्हें श्रद्धांजलि दी गई जिसके बाद कार्यालय बंद कर दिया गया. विधान परिषद सचिवालय में अब सैनिटाइजेशन का काम कराया जाएगा. उसके बाद ही कार्यालय में कर्मी प्रवेश करेंगे विधान परिषद के सभी अधिकारियों पर अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह भी अपनी कोरोना जांच कराएंगे. हालांकि वह पहली लहर में पॉजिटिव पाए जा चुके हैं.

Sponsored

विधान परिषद में भी अब गृह विभाग के गाइडलाइन का पालन होगा. 30 अप्रैल तक के 33 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ कार्यालय चलाने का निर्देश दिया गया है. वही वरीय अधिकारियों की उपस्थिति को 100 फीसदी रखा गया है.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: FirstBihar

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here