BIHARBreaking NewsSTATE

बिहार में Corona का बढ़ता कहर, पटना जंक्शन पर तैनात TTE की हुई मौत, कुछ ही दिन पहले हुई थी शादी

बिहार में कोरोना का संक्रमण बड़ी तेजी से फ़ैल रहा है. राजधानी पटना में संक्रमण की रफ़्तार काफी तेज है. इस वक़्त एक बड़ी खबर पटना से सामने आ रही है. पटना जंक्शन पर तैनात एक टीटीई की मौत कोरोना से हो गई है. कुछ ही दिन पहले इनकी शादी हुई थी. पहले कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. इलाज के क्रम में इनकी मौत हो गई है. टिकट एग्जामिनर की मौत के बाद रेलवे कर्मियों में हड़कंप मच गया है.

Sponsored

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

पूर्व मध्य रेल के टिकट एग्जामिनर समीर कुमार चंद्रवंशी की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि कोरोना से इनकी जान गई है. कुछ दिनों पहले कोरोना पॉजिटिव होने के बाद इन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के क्रम में कल देर रात इनकी मौत हो गई.

Sponsored

आपको बता दें कि टिकट एग्जामिनर समीर कुमार चंद्रवंशी को पटना स्टेशन पर टिकट चेक करने के लिए तैनात किया गया था. समीर रेलवे से सफर करने वाले लोगों की टिकट जांच कर रहे थे. कोरोना काल में भी ये लगातार ड्यूटी करते रहे थे.

Sponsored


Sponsored

जानकारी मिली है कि समीर कुमार चंद्रवंशी की उम्र ज्यादा नहीं थी. वह काफी यंग थे और हाल ही में इनकी शादी हुई थी. अपने साथी की मौत से पूर्व मध्‍य रेलवे के विभ‍िन्‍न स्‍टेशनों पर काम करने वाले स्‍टाफ में काफी डर की स्थिति है. खासकर ट्रेनों के टिकट चेकिंग स्‍टाफ में चि‍ंता देखी जा रही है. गौरतलब हो कि पटना जंक्‍शन पर तैनात कई रेलकर्मी अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. बीते दिन गुरूवार को ही तीन कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए थे. मुख्‍य बुकिंग पर्यवेक्षक सह मुख्‍य पार्सल सुपरवाइजर सुभाष सिंह, आरक्षण पर्यवेक्षक आरएस पांडेय समेत कई रेल कर्मियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद रेलकर्मी काफी दहशत में हैं.

Sponsored


Sponsored

रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिछले तीन से चार दिनों में पटना जंक्‍शन पर तैनात दर्जन भर रेल कर्मी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं. पटना जंक्‍शन के पास स्थित करबिगहिया रेलवे सुपर स्‍पेश‍ियलिटी अस्‍पताल में रेल कर्मियों की कोरोना जांच के लिए व्‍यवस्‍था की गई है. रेलवे अधिकारियों के मुताबिक जरूरत होने पर संक्रमित पाए गए कर्मियों का इलाज दानापुर रेल अस्‍पताल में किया जाएगा. दोनों अस्‍पतालों में कोरोना से बचाव के लिए पूरी गाइडलाइन का सतर्कता से पालन किया जा रहा है.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: FirstBihar

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here