BIHARBreaking NewsSTATE

कुदरत का एक और कहर ! उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर टूटा, सरकार ने जारी किया Alert !!

भारत-चीन सीमा को जोड़ने वाली सड़क पर सुमना 2 में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है. बताया जा रहा है कि भारी बर्फबारी की वजह से ये ग्लेशियर टूटा है. ग्लेशियर टूटने के बाद से ही संपर्क कट चुका है.  किसी भी तरह की बातचीत संभव नहीं हो रही है. खबर है कि यहां मजदूर सड़क कटिंग के कार्य में रहते हैं. बीआरओ के अधिकारी लगातार संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं और रेस्क्यू ऑपरेशन को भी तेजी से चलाया जा रहा है. लेकिन तेज बारिश और खराब मौसम की वजह से सेंट्रल कमांड आर्मी को इस अभियान में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

चमोली में फिर टूटा ग्लेशियर

Sponsored

NDRF की सूत्रों की तरफ से बताया जा रहा है कि ग्लेशियर टूटने के बाद से रैणी में ऋषिंगगा नदी का स्तर काफी ज्यादा बढ़ गया है और स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. प्राप्त सूचना के अनुसार जल स्तर 2 फुट तक बढ़ा है. अभी तक जान-माल की हानी की कोई खबर नहीं मिली है. एजेंसियां लगातार मौके पर पहुंचने की कवायद कर रही हैं. मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से भारी बर्फबारी हो रही है और बारिश का आना लगातार जारी है. बताया जा रहा है कि ग्लेशियर भी इसी वजह से टूटा है. स्थिति का जायजा स्थानीय एजेंसीज के द्वारा लिया जा रहा है. 

Sponsored


Sponsored

सदमे में स्थानीय लोग

Sponsored

ग्लेशियर टूटने के बाद से ही स्थानीय लोग काफी सदमे में हैं और उनके मन में फरवरी में चमोली में टूटे ग्लेशियर की यादें ताजा हो गई हैं. शुक्रवार को हुई इस घटना से  कई गांव प्रभावित हो गए हैं और संपर्क भी बड़े स्तर पर टूटा है. मालूम हो कि इसी साल 7 फरवरी को चमोली ग्लेशियर टूटने की घटना सामने आई थी. उस घटना के बाद 205 लोग लापता बताए गए, वहीं 79 ने अपनी जान गवा दी. सरकार के कई सारे विकास कार्य भी उस त्रासदी की चपेट में आ गए थे और आर्थिक दृष्टि से भी भारी नुकसान हो गया था.

Sponsored

संपर्क पूरी तरह टूटा

Sponsored

उस त्रासदी से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि अब एक और घटना ने सभी को खौफजदा कर दिया है. इलाके की संवेदनशीलता को समझते हुए एजेंसिया जल्द से जल्द मौके पर पहुंच नुकसान का जायजा लेना चाहती है. लेकिन वहां तक पहुंचने में अभी काफी समय जाने वाला है क्योंकि सड़कों पर बर्फ जमा है और संपर्क पूरी तरह टूट चुका है. अभी इस समय रेस्क्यू ऑपरेशन भी काफी धीमि गति से आगे बढ़ता दिख रहा है.

Sponsored

Ads

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: IT Network

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here