BIHARBreaking NewsSTATE

बिहार के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में ऑक्सीजन टैंक लगेंगे, कैबिनेट की बैठक में मिली मंजूरी

बिहार के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंक लगाए जाएंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई राज्य राज्य कैबिनेट की बैठक में स्वास्थ्य विभाग के इस प्रस्ताव पर मंजूरी दी गई। इसके साथ ही मंत्रिमंडल सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार मंत्रिमंडल की बैठक में कुल 11 प्रस्ताव स्वीकृत किए गए।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

कैबिनेट के बैठक समाप्त होने के समय सरकार को मुख्य सचिव अरुण कुमार के निधन की जानकारी मिली। इसके बाद मुख्यमंत्री समेत अन्य मंत्रियों ने एक मिनट का मौन रखा और दिवंगत मुख्य सचिव को श्रद्धांजलि दी। बाद में पूछे जाने पर मंत्रिमंडल विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी शनिवार को दी जाएगी।

Sponsored

हालांकि स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने कैबिनेट में लिए गए फैसलों की बाबत बताया कि पीएमसीएच, एनएमसीएच और आईजीआईएमएस में दो- दो क्रायोजेनिक टैंक लगाए जाएंगे, जबकि अन्य मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में एक-एक क्रायोजेनिक टैंक लगाए जाएंगे। बताया गया कि कोलकाता की कंपनी लिंडे इंडिया को क्रायोजेनिक टैंक लगाने की अनुमति दी गयी है। इस कंपनी द्वारा अभी कोलकाता में क्रायोजेनिक टैंक का निर्माण किया जा रहा है। इस कंपनी के पास ऑक्सीजन टैंक बनाने का व्यापक अनुभव है। बिहार में इसे जल्द से जल्द कार्य शुरू करने को कहा जायेगा। वहीं, राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में अगले पांच साल तक ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए एक कंपनी के साथ करार को भी कैबिनेट ने मंजूरी दी है।

Sponsored


Sponsored

एक हजार डॉक्टरों की संविदा पर होगी बहाली
कैबिनेट ने बिहार में कोरोना के मद्देनजर एक हजार एमबीबीएस डॉक्टरों की बहाली को भी मंजूरी दी है। इन डॉक्टरों की बहाली एक साल के लिए होगी, लेकिन आवश्यकता होने पर इसकी अवधि बढ़ायी भी जा सकती है। बहाल होने वाले डॉक्टरों को प्रतिमाह 65 हजार रुपये मिलेंगे। पीएमसीएच और एनएमसीएच में एक-एक सौ डॉक्टरों की बहाली की जाएगी, जबकि शेष 900 डॉक्टर अनुमंडल और जिला अस्पतालों में तैनात किये जाएंगे।

Sponsored


Sponsored

वैक्सीन खरीद को चार हजार करोड़ खर्च की सैद्धांतिक मंजूरी
सूत्रों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव पर कैबिनेट ने चार हजार करोड़ रुपये कोरोना वैक्सीन की खरीद पर खर्च किये जाने की सैद्धान्तिक मंजूरी दी। साथ ही कोरोना वैक्सीन की खरीद के लिए एक हजार करोड़ रुपये जारी किए जाने की भी स्वीकृति दी गई। विभाग इस राशि से कोरोना टीका की खरीद करेगा।

Sponsored

Ads

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: Hindustan

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here