BIHARBreaking NewsSTATE

बिहार पंचायत चुनाव 1 महीने हुआ लेट, M3 ईवीएम के लिए नहीं मिली है NOC, फरवरी में ही होना था तिथियों का ऐलान

पंचायत चुनाव का अब महीने भर की देरी से होना लगभग तय है। तमाम कोशिशों के बावजूद राज्य निर्वाचन आयोग अब मार्च के अंतिम सप्ताह से पहले चुनावी तारीखों का ऐलान नहीं कर सकता। भारत निर्वाचन आयोग की तरफ से M3 जेनरेशन की EVM खरीद को लेकर अब तक राज्य निर्वाचन आयोग को NOC नहीं दिए जाने के कारण पंचायत चुनाव में यह देरी हो रही है।

Sponsored

VC के जरिए रखी राज्य निर्वाचन आयोग ने मांग

Sponsored

राज्य निर्वाचन आयोग M3 जेनेरेशन की EVM की खरीद के लिए भारत निर्वाचन आयोग से NOC की मांग कर रहा है। इसके लिए उसने भारत निर्वाचन आयोग को कई बार पत्र भी लिखा है। हालांकि यह मामला अब कोर्ट में पहुंच चुका है और राज्य आयोग NOC पाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटा चुका है। लेकिन, इन सब के बीच कार्यालय स्तर पर भी दोनों आयोगों की बीच लगातार बातचीत चल रही है। इसी सिलसिले में राज्य निर्वाचन आयोग की भारत निर्वाचन आयोग के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग (VC) के जरिये एक बैठक भी हुई, जिसमें राज्य निर्वाचन आयोग ने अपने M3 जेनरेशन की EVM मशीनों की अपनी मांग को लेकर अपना पक्ष रखा।
.
Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

कार्यकाल जून 2021 में खत्म हो रहा है

Sponsored

बिहार के त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाओं का कार्यकाल जून 2021 में खत्म हो रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग ने इस कार्यकाल को देखते हुए अप्रैल से मई तक चुनाव संपन्न करा लेने की प्लानिंग कर रखी थी। इसके लिए फरवरी के अंतिम सप्ताह में चुनाव की तिथियों का ऐलान करना था, लेकिन अब तक EVM की खरीद ही नहीं हो सकी है, लिहाजा न तो चुनावी तिथियों का ऐलान हो सका है और न ही अधिसूचना जारी हुई है। राज्य निर्वाचन आयोग की मानें तो NOC मामले की वजह से पंचायत चुनाव में 1 महीने की देरी हो चुकी है ।

Sponsored

विधानसभा वोटर का नाम पंचायत वोटर लिस्ट में अपनेआप हो जाएगा शामिल

Sponsored

पंचायत चुनाव के लिए अंतिम वोटर लिस्ट का प्रकाशन कर दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद जिन वोटरों के नाम अब भी इस लिस्ट में शामिल नहीं हुए हैं उनके लिए वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने का मौका अभी है। प्रपत्र घ भरकर वे मतदाता वोटर लिस्ट में अपना जुड़वा सकते हैं। वहीं, राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक जिन वोटरों के नाम 15 फरवरी 2021 तक विधानसभा वोटर लिस्ट में शामिल हो चुके हैं उनके नाम पंचायत वोटर लिस्ट में जोडे़ जाने का निर्देश जिला निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय को पहले ही दे दिया गया। यानी जिन ‌‌‌‌वोटरों के नाम विधानसभा वोटर लिस्ट में 15 फरवरी 2021 तक जुड़ चुके हैं उनके नाम खुद-ब-खुद पंचायत वोटर लिस्ट में शामिल हो जाएंगे।

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: Bhaskar

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here