ADMINISTRATIONBIHARNationalPolicePolitics

बिहार में अब घर बैठे मुफ्त में इलाज कराने के साथ ले सकते है स्वास्थ्य परामर्श, डाउनलोड करना होगा ये ऐप

बिहार के लोगों के लिए काफी लाभदायक योजना है। हालांकि बिहार के लोग अब घर बैठे ही ओपीडी की सेवा प्राप्त कर सकते हैं। इसकी शुरुआत स्वास्थ्य विभाग के द्वारा कोरोना काल के दौरान की गई थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 10 अगस्त 2021 को राज्य के उप-स्वास्थ्य केंद्रों पर ई-संजीवनी का उद्घाटन किया था। इसके अंतर्गत 2263 स्वास्थ्य उपकेन्द्रों को 245 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं जिला अस्पताल (हब) से जोड़ा गया है। उप-स्वास्थ्य केन्द्रों पर पहुंचकर ई-संजीवनी प्लेटफार्म की सहायता से निःशुल्क ऑनलाइन चिकित्सकीय परामर्श प्राप्त कर सकता है।

Loading...
Sponsored

वहीं ई-संजीवनी ओपीडी के द्वारा मरीज खुद एप्लीकेशन के जरिए डॉक्टर जुड़कर निःशुल्क चिकित्सकीय परामर्श ले सकते हैं। हालांकि इसकी सहायता से लोग विशेषज्ञ चिकित्सकों से भी परामर्श ले सकते हैं। यह सेवा सोमवार से शनिवार तक एवं सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक फ्री में डॉक्टरों से परामर्श ले सकते हैं। ई-संजीवनी ओपीडी में अधिक से अधिक सामान्य चिकित्सकों के साथ-साथ विशेषज्ञ चिकित्सकों को शामिल करने का प्रयास किया गया है। इसमे सबसे खास बात ये है कि यह एंड्राइड मोबाइल एप्लीकेशन के रूप में सभी के लिए उपलब्ध है।

Loading...
Sponsored

 

चिकित्सक द्वारा बताए गए दवा आप नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा सभी स्वास्थ्य उप केंद्रों पर कार्यरत ANM इलाज के लिए आने वाले कोई भी बीमारी से ग्रसित रोगियों का नाम, पता एवं उसकी परेशानी को मौजूदा 4 जी सेवा से युक्त अनमोल टैब पर रजिस्टर्ड करने के बाद ई संजीवनी टेली मेडिसिन हब से जुड़े जिले के चिकित्सकों में से किसी से भी वीडियो कान्फ्रेंसिग के जरिए मरीज और डाक्टर को एक दूसरे के सामने लाती है। और मरीज ऑनलाइन ही डॉक्टर से परामर्श लेते है और साथ ही इलाज से जुड़े डॉक्टर के पर्ची की साफ्ट कापी या हार्ड कापी का प्रिंट निकाल सकता है।

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here