BIHARBreaking NewsSTATE

BREAKING; पटना की सड़कों पर RJD का उत्‍पात, हिरासत में लिये गए तेजस्‍वी व तेज प्रताप

रोजगारी, अपराध, महंगाई एवं अशिक्षा के मुद्दों पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में राजद के मंगलवार को निकाले गए बिहार विधानसभा मार्च के दौरान राजधानी पटना में जमकर उपद्रव हुआ। कोरोना संक्रमण को देखते हुए पटना जिला प्रशासन की ओर से अनुरोध किया गया था कि राजद विधानसभा मार्च और विधानसभा के घेराव का इरादा छोड़कर गर्दनीबाग में धरना दे। इसके बावजूद नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव की अपील पर बड़ी संख्‍या में पार्टी कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। पुलिस ने उन्‍हें रोका तो पटना का डाकबंगला चौराहा रणक्षेत्र बन गया। वहां पुलिस ने पहले वाटर कैनन का इस्‍तेमाल किया। इससे बात नहीं बनी तो लाठियां भी भांजीं। खास बात यह है कि राजद कार्यकर्ताओं ने पार्टी के झंडे की लाठियों से पुलिस वालों की पिटाई की। उपद्रव के दौरान मीडिया कर्मियों को भी चोटें आईं।

Sponsored

बवाल थमने के बाद पहुंचे नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव

Sponsored

नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव भी अपने कई विधायकों के साथ विधानसभा मार्च में शामिल होने गांधी मैदान के पास जेपी गोलंबर पहुंचे थे। हालांकि, डाकबंगला चौराहे पर हो रहे बवाल के दौरान दोनों नेता वहां नहीं पहुंच सके थे। दोनों नेता जेपी गोलंबर से आगे बढ़ते हुए जब डाकबंगला चौराहा तक पहुंचे तो वहां दो राउंड पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प के बाद मामला कुछ हद तक शांत हो गया था। दोनों नेताओं ने डाकबंगला चौराहा पहुंचने के बाद स्थिति नियंत्रित करने की कोशिश की।

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

तेजस्‍वी और तेज प्रताप को हिरासत में लेने के बाद थमा मामला

Sponsored

बवाल थमने के बाद पटना पुलिस के अधिकारियों ने तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव से आंदोलन खत्‍म करने की अपील की। इसके बाद दोनों नेता पुलिस की बस में जाकर सवार हो गए। राजद कार्यकर्ता अपने नेता को पुलिस के साथ नहीं जाने देने पर अड़ गए और बस को घेरकर खड़े हो गए। दोनों नेताओं के समझाने पर कार्यकर्ता शांत हुए और पुलिस उन्‍हें लेकर गांधी मैदान की ओर रवाना हो गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जरूरी कानूनी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद दोनों नेताओं को छोड़ दिया जाएगा।

Sponsored

हेलमेट पहनकर नजर आए तेज प्रताप यादव

Sponsored

तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव इस मार्च में शामिल होने के लिए एक पिकअप वैन पर सवार होकर आए थे। दोनों नेता जेपी गोलंबर से इसी वाहन पर डाकबंगला चौराहे के लिए रवाना हुए। पूरे रास्‍ते दोनों नेता वाहन पर सवार होकर ही कार्यकर्ताओं को संबोधित करते रहे। डाकबंगला चौराहे पर जब इनकी गाड़ी पहुंची तो तेज प्रताप यादव हेलमेट लगाए नजर आए, हालांकि बाद में उन्‍होंने अपना हेलमेट उतार दिया। वे अपने हाथा में पिता लालू प्रसाद यादव की तस्‍वीर लिये हुए थे।

Sponsored

जेपी गाेलंबर पर बैरिकेडिंग तोड़कर आगे बढ़ गए कार्यकर्ता

Sponsored

प्रशासन ने राजद कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए जेपी गोलंबर पर ही बैरिकेडिंग कर दी थी। हालांकि, वहां बैरिकेडिंग को तोड़कर आंदोलनकारी आगे बढ़ गए। जब तेजस्‍वी और तेज प्रताप मौके पर नहीं पहुंचे थे। इसके बाद प्रशासन ने डाकबंगला चौराहे पर इन्‍हें रोकने की पूरी व्‍यवस्‍था कर ली। प्रशासन ने पहले ही तय कर लिया था कि यहां से आंदोलनकारियों को किसी हालत में आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा। यहां समझाने पर जब राजद कार्यकर्ता नहीं माने तो पुलिस ने वाटर कैनन का इस्‍तेमाल शुरू किया।

Sponsored

रोड़ेबाजी शुरू हुई तो पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज

Sponsored

डाकबंगला चौराहे पर स्थिति काे नियंत्रित करने के दौरान राजद कार्यकर्ताओं ने रोड़ेबाजी शुरू की तो पुलिस को मजबूरन लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान राजद कार्यकर्ताओं ने भी अपने पार्टी के झंडे में लगाकर लाए गए डंडों से पुलिस वालों को पीटा। इस सारे घटनाक्रम के दौरान तेजस्‍वी और तेज प्रताप जेपी गोलंबर तक तो आ गए थे, लेकिन डाकबंगला चौराहे पर नहीं पहुंच पाए थे। इस दौरान हुई झड़प में राजद कार्यकर्ताओं के साथ ही पुलिस वाले और मीडिया कर्मी भी चोटिल हो गए। बवाल के दौरान कई वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई है। हंगामे के दौरान फ्रेजर रोड और डाकबंगला चौराहे की सभी दुकानें बंद हो गई थीं।

Sponsored

राजद नेता ने लगाया बाहरी लोगों पर रोड़ेबाजी का आरोप

Sponsored

राजद नेताओं ने कहा कि आंदोलन को भटकाने के लिए बाहरी लोगों ने रोड़ेबाजी की। यह रोड़ेबाजी फ्रेजर रोड में एक निजी परिसर से की गई। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज का बहाना मिला। राजद नेताओं ने कहा कि पुलिस ने उनके कार्यकर्ताओं को बुरी तरह पीटा है।

Sponsored

Sponsored

Input: JNN

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here