Breaking NewsInternational

Taliban के बीच डटकर बैठे हैं काबुल के आखिरी पुजारी, बोले- मरते दम तक करूंगा मंदिर की सेवा

इंटनेशनल डेस्क: तालिबान ने पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा कर कोहराम मचा दिया है। तालिबान ने कुछ ही दिनों में पूरे देश पर कब्जा कर पश्चिम समर्थित अफगान सरकार को घुटने टेकने को मजबूर कर दिया। ऐसे में राष्ट्रपति अशरफ गनी समेत लाखों लोग अपनी जान बचाने के लिए देश छोड़ कर भाग रहे हैं तो वहीं एक काबुल के मंदिर के पुजारी ने भागने से इंकार कर दिया है।

Loading...
Sponsored

वह काबुल के आखिरी पुजारी हैं।

Loading...
Sponsored

मंदिर को छाेड़ने से किया इंकार
काबुल में रतन नाथ मंदिर के पुजारी पंडित राजेश कुमार ने देश मंदिर को छाेड़ने से इंकार करते हुए कहा कि मेरे पूर्वजों ने सैकड़ों वर्षों तक इस मंदिर की सेवा की। मैं इसे नहीं छोड़ूंगा। अगर तालिबान मुझे मारता है, तो मैं इसे अपनी सेवा मानता हूं। उन्होंने कहा कि कुछ हिंदुओं ने मुझसे काबुल छोड़ने का आग्रह किया और मेरी यात्रा तथा ठहरने की व्यवस्था करने की पेशकश की लेकिन मैं ये मंदिर नहीं छोडूंगा।

Loading...
Sponsored

पुजारी राजेश कुमार को भारत लाने की उठी मांग
विप्र सेना प्रमुख सुनील तिवारी ने भारत सरकार से मांग करते हुए कहा था कि काबुल में रत्ननाथ मंदिर के पुजारी राजेश कुमार शर्मा को भारत लाया जाए। उन्होंने कहा कि पुजारी के भारत आने के बाद उनके लिए यहां पर एक मंदिर की स्थापना की जाएगी, जिससे उनका जीवन यापन सही से हो। मंदिर निर्माण में जो भी समय लगेगा उस दौरान राजेश शर्मा समस्त प्रकार की सुविधाएं निशुल्क विप्र सेना के द्वारा दी जाएगी।

Loading...
Sponsored

 

Input: Pujab Kesari

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here