BIHARBreaking NewsSTATE

होली के त्योहार पर छाया कोरोना का ग्रहण, कोविड की दूसरी लहर से खौफ में जी रहे लोग

पूरा देश पिछले एक साल से कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। वर्तमान में होली जैसे त्योहार पर सार्वजनिक मिलन समारोह पर रोक रहने से लोगों की होली इस बार फीकी-फीकी रहेगी। इस कोरोना काल में जिले के विकास का पहिया थम गया है। इसको लेकर लगाए गए देशव्यापी लॉकडान में करीब एक लाख प्रवासियों ने अपनी घर वापसी की थी।

Sponsored

लॉकडाउन खत्म होती ही 80 फीसदी प्रवासी रोजगार की तलाश में फिर से परदेस चले गए। लेकिन अब कोरोना की दूसरी लहर की खबर से आम आवाम एक बार फिर खौफ के साए में जी रहे हैं। हालांकि, कोरोना टीकाकरण से लोगों के जेहन से कोरोना का खौफ काफी हद तक कम होने लगा था।

Sponsored

कोरोना की दूसरी लहर ने फिर से लोगों को आक्रांत कर दिया है।इस संबंध में डीएम सुहर्ष भगत ने बताया कि कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए जिले में रोस्टर के मुताबिक कोविशील्ड-19 का टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। इसके साथ ही कोरोना को लेकर जारी सरकार के सभी निर्देशों का पालन भी किया जा रहा है।

Sponsored

इसके अलावा क्षेत्र में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए अभियान चलाकर सड़कों व बाजारों में घूमने वालों के मास्क की जांच की जा रही है। मास्क का इस्तेमाल नहीं करने वाले लोगों से जुर्माने भी वसूले जा रहे हैं। जिससे वे मास्क के इस्तेमाल को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बना सकें। जिले में अबतक करीब 60 हजार लोगों को कोरोना का टीका दिया जा चुका है। इसमें तीस प्रतिशत लोगों को दूसरा डोज भी दिया जा चुका है।

Sponsored

डीजे व सामूहिक समारोह पर लगी ब्रेक
वहीं होली एवं शब ए बारात के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने एवं भाईचारे के माहौल में पर्व को मनाए जाने को लेकर समस्तीपुर जिले में विभिन्न स्थानों पर शांति समिति की बैठक हुई। शनिवार को विभिन्न थाना परिसर में आयोजित शांति समिति की बैठक में सौहार्दपूर्ण माहौल में पर्व मनाने की अपील की गई। साथ ही कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सामूहिक रूप से होली मिलन समारोह के साथ-साथ डीजे साउंड बजाने पर भी रोक लगा दी गई है। वहीं शराबियों एवं शराब के धंधेबाजों पर भी चौकसी की जा रही है।

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here