BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

बिहार बोर्ड से 10वीं में इन छात्रों ने किया टॉप, यहां देखें टॉपर्स की पूरी लिस्ट-

बिहार स्कूल एग्जामिनेशन बोर्ड, बीएसईबी (Bihar School Examination Board) की ओर से 10वीं परीक्षा 2021 के नतीजे दोपहर 3:30 बजे जारी कर दिए गए. बोर्ड ने 10वीं के करीब 17 लाख छात्रों का रिजल्ट जारी किया है. 10वीं परीक्षा का रिजल्ट शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जारी किया. बोर्ड ने इस बार प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की है. रिजल्ट को प्रेस रिलीज जारी कर, घोषित किया गया है. रिजल्ट बोर्ड की अधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in और hindi.news18.com पर देख सकते हैं.

Sponsored

10वीं के टॉप 10 टॉपर्स
पूजा कुमार 484
शुभदर्शिनी 484
संदीप कुमार 484
दीपाली आलोक 483

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

अमीषा कुमारी 483
तनुश्री 483
पवन कुमार 483
उत्कर्ष नारायण भारती 483
प्रियंका कुमारी 483
तनु कुमारी 483

Sponsored

ये हैं टॉप 10 टॉपर्स
-मैट्रिक में 78.17% छात्र हुए पास.
-पूजा, संदीप और शुभाषिणी  टॉपर्स में शामिल.
टॉप 10 में 101 स्टूडेंट्स.
-टॉपर्स में 101 स्टूडेंट्स शामिल हुए हैं, ये पहली बार हुआ है. सिमुतला जमुई के छात्र सबसे ज्यादा टॉप टेन में शामिल हैं.
-सिमुतला के 13 छात्र टॉप 10 में.

Sponsored

Press Release Matric Result 2021 Brief (1) यहां क्लिक कर पढ़ें डिटेल

पिछली बार की तुलना में इस बार 10वीं बोर्ड परीक्षा में एक लाख से ज्यादा अभ्यर्थी शामिल हुए. पिछली बार 10 मैट्रिक परीक्षा में कुल 14,94,071 विद्यार्थी शामिल हुए थे, जिनमें 729213 छात्र और 7,64,858 छात्राएं शामिल थीं.

Sponsored

अगर कोई छात्र बिहार बोर्ड 10वीं की परीक्षा में कंपलसरी विषय में फेल होता है, तो उसे चुने गए अतिरिक्त विषय के नंबरों के जरिए पास किया जाएगा. विद्यार्थी को अंग्रेजी के विषय में पास होना जरूरी है. विद्यार्थी को सामाजिक विज्ञान और विज्ञान के प्रैक्टिल, लिखित और इंटरनल असेसमेंट में भी पास होना अनिवार्य है.

Sponsored

-साल 2020 में 10वीं के नतीजे 26 मई 2020 को घोषित किए गए थे.
-2019 में 6 अप्रैल को,
-2018 में 26 जून को,
-साल 2017 में 22 जून को और
साल 2016 में 29 मई को 10वीं बोर्ड परीक्षा के नतीजे घोषित किए गए थे.

Sponsored

10वीं बोर्ड में पास होने के लिए हर विषय में 30 फीसदी नंबर लाना जरूरी है. एक या दो विषय में कम नंबरों से फेल होने वाले विद्यार्थियों को बोर्ड की ओर से ग्रेस अंक देकर पास कर दिया जाएगा. पिछली बार 10वीं की परीक्षा में बोर्ड की ओर से करीब 1,41,677 विद्यार्थियों को ग्रेस अंक देकर पास किए गए थे.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: News18

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here