BIHARBreaking NewsSTATE

रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर, नवरात्र से पहले 78 स्पेशल ट्रेनों की मिली हरी झंडी, यहां देखिए पूरी लिस्ट

भारतीय रेलवे ने नवरात्र शुरू होने से पहले 39 जोड़ी (78) स्पेशल ट्रेनों के संचालन के लिए बुधवार को हरी झंडी दे दी जो विभिन्न जोनों में सुविधानुसार चलाई जाएंगी। इन ट्रेनों में ज्यादातर एसी स्पेशल, राजधानी, शताब्दी और दूरंतो श्रेणी की होंगी।

Sponsored

नवरात्र के पहले ही दिन निजी क्षेत्र की प्रमुख ट्रेन तेजस शुरू होगी। इनमें पहली तेजस दिल्ली से लखनऊ और दूसरी अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलेगी। तेजस ट्रेन में यात्रा करने वालों के लिए कोरोना से बचाव के विशेष बंदोबस्त किए गए हैं।

Sponsored

 

यात्रियों को आरोग्य सेतु एप के बगैर यात्रा की अनुमति नहीं होगी। रेलवे मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि ये ट्रेनें स्पेशल ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी। हालांकि यह नहीं बताया गया है कि ये ट्रेनें कब चलेंगी। रेलवे का कहना है कि इन्हें जल्दी से जल्दी सुविधाजनक तारीख से शुरू किया जाएगा।

Sponsored

Sponsored

यात्रियों की बढ़ती मांग के मद्देनजर रेलवे बोर्ड ने अन्य स्पेशल 78 ट्रेनों को चलाने की अनुमति दी है। इन ट्रेनों का चयन उन्हीं रूटों के लिए किया गया है जिन पर यात्रियों का अधिक दबाव है। ट्रेनों के चालू होने की तिथि की घोषणा जोन स्तर पर की जाएगी। लेकिन तेजस का संचालन 17 अक्टूबर को नवरात्र शुरू होने के साथ चालू हो जाएगा।

Sponsored

कोविड-19 के चलते उत्तराखंड और महाराष्ट्र में कई तरह की पाबंदियों के चलते इन राज्यों के लिए ट्रेनों की संख्या बहुत सीमित थी। इन स्पेशल ट्रेनों की खेप में हरिद्वार और देहरादून से मुंबई के बीच ट्रेनों के संचालन की अनुमति दी गई है। पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने कहा था कि कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्यों की सहमति से ही ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा सकेगी। लेकिन अब पूरी तरह अनलॉक होने के बाद ट्रेनों की संख्या में इजाफा हो सकता है। माता वैष्णो देवी के लिए भी ट्रेन चालू होगी।

Sponsored

आइआरसीटीसी के मुताबिक, तेजस में यात्रा के लिए ट्रेन में एक सीट छोड़कर बैठना होगा। एक बार सीट पर बैठने के बाद किसी सीट के साथ अदला-बदली नहीं होगी। ट्रेन में प्रत्येक यात्री को मास्क, सैनिटाइजर और ग्लव्स आदि वस्तुएं प्रदान की जाएंगी। यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया जाएगा।

Sponsored

प्रमुख ट्रेनें :-

Sponsored

* लोकमान्य तिलक टर्मिनल – हरिद्वार (एसी एक्सप्रेस)
* लोकमान्य तिलक टर्मिनल – लखनऊ (एसी एक्सप्रेस)
* नागपुर – अमृतसर (एसी एक्सप्रेस)
* कामाख्या – लोकमान्य तिलक टर्मिनल (एसी एक्सप्रेस)
* निजामुद्दीन – पुणे (एसी एक्सप्रेस)

Sponsored

 

* आनंद विहार – नाहरलगुन (एसी एक्सप्रेस)
* नई दिल्ली – कटरा (एसी एक्सप्रेस)
* हावड़ा – यशवंतपुर (एसी एक्सप्रेस)
* भुवनेश्वर – आनंद विहार (एसी एक्सप्रेस)
* भुवनेश्वर – नई दिल्ली (दूरंतो)

Sponsored

 

* निजामुद्दीन – पुणे (दूरंतो)
* हावड़ा – पुणे (दूरंतो)
* चेन्नई – निजामुद्दीन (दूरंतो)
* डिब्रूगढ़ – नई दिल्ली (राजधानी)
* मुंबई सेंट्रल – निजामुद्दीन (राजधानी)

Sponsored

 

* बांद्रा टर्मिनल – निजामुद्दीन (युवा एक्सप्रेस)
* नई दिल्ली – हबीबगंज (शताब्दी)
* नई दिल्ली – अमृतसर (शताब्दी)
* नई दिल्ली – देहरादून (शताब्दी)
* हावड़ा – रांची (शताब्दी)

Sponsored

 

* नई दिल्ली – श्री माता वैष्णो देवी कटरा (वंदे भारत)
* जयपुर – दिल्ली सराय रोहिल्ला (डबल डेकर)

Sponsored

Sponsored

Sponsored

महाराष्ट्र के भीतर चलेगी 5 जोड़ी स्पेशल ट्रेन

Sponsored

वहीं मध्य रेलवे ने बताया कि 9 अक्टूबर से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस और नागपुर, पुणे, गोंदिया और सोलापुर के बीच पांच जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलाएगा। ये स्पेशल पूरी तरह से आरक्षित ट्रेनों के रूप में चलेगी। यात्रियों को यात्रा के दौरान COVID-19 से संबंधित सभी मानदंडों और एसओपी का पालन करने की सलाह दी गई है।

Sponsored

17 अक्टूबर से दौड़ेगी तेजस एक्सप्रेस, 8 से शुरू होगी बुकिंग

Sponsored

देश की कॉरपोरेट सेक्टर की पहली ट्रेन तेजस एक्सप्रेस 17 अक्टूबर से दौड़ने लगेगी। भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) इस वीआईपी ट्रेन की सीट की बुकिंग आठ अक्टूबर से चालू करेगा। यात्रियों को ट्रेन में पैक्ड खाना मिलेगा। मंगलवार को आईआरसीटीसी और रेलवे बोर्ड के अधिकारियों के बीच हुई बैठक में इस पर निर्णय हो गया।

Sponsored

करीब एक साल पहले लखनऊ से नई दिल्ली के लिए कॉरपोरेट सेक्टर की देश की पहली ट्रेन तेजस की शुरुआत हुई थी। आधुनिक सुविधाओं वाली यह ट्रेन यात्रियों में खासी लोकप्रिय हुई। यह देश की पहली ट्रेन है जिसके लेट होने पर यात्रियों को मुआवजा देने का नियम है। आईआरसीटीसी के तत्कालीन मुख्य क्षेत्रीय अधिकारी अश्विनी श्रीवास्तव ने ही दूसरी ट्रेन अहमदाबाद मुम्बई तेजस की शुरुआत की थी।

Sponsored

10 अक्टूबर से ट्रेन रिजर्वेशन नियम में होगा बदलाव
रेलवे ने यात्रियों को एक खास सुविधा देने जा रहा है। इसके तहत इंडियन रेलवे ट्रेन रिजर्वेशन चार्ट की टाइमिंग में बदलाव करने जा रही है। 10 अक्टूबर से रेलवे का दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन के छूटने से 30 मिनट पहले ही बनेगा। फिलहाल कोरोना काल में चार्ट 2 घंटे पहले बनाया जा रहा है। कोरोना काल में बदलाव करते हुए रेलवे ने दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने के 2 घंटे पहले बनाना तय किया था। लेकिन 10 अक्टूबर से दोबारा से नियम में बदलाव होगा। इसके बाद से दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने के समय से 30 मिनट पहले बनेगा। दूसरा चार्ट तैयार होने से पहले टिकट बुकिंग की सुविधा ऑनलाइन और पीआरएस टिकट काउंटरों पर उपलब्ध रहेगी।

Sponsored

अब ये व्यवस्था होगी लागू
10 अक्टूबर से रिजर्वेशन का पहला चार्ट ट्रेन खुलने से कम से कम 4 घंटे पहले तैयार किया जाएगा। इसमें खाली सीटें या बर्थ की बुकिंग अन्य यात्री ऑनलाइन या काउंटर से करा सकेंगे। इसके बाद दूसरा रिजर्वेशन चार्ट ट्रेन छूटने से 30 मिनट पहले तैयार होगा। इस टाइम टेबल में पहले से बुक टिकटों को कैंसिल कराने का भी प्रावधान होगा।

Sponsored

15 अक्‍टूबर से चलाई जाएंगी 200 विशेष ट्रेनें : रेलवे बोर्ड 
बता दें कि इससे पहले रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ वीके यादव ने बताया था कि भारतीय रेलवे (Indian Railway) त्यौहारी सीजन (festive season) में 15 अक्टूबर से 30 नवंबर के बीच 200 विशेष ट्रेनें चलाने की योजना बना रही है।

Sponsored

रेलवे ने फिलहाल सभी सामान्य यात्री ट्रेनों को अनिश्चितकाल के लिए रद कर दिया है। कोरोना महामारी के चलते ये ट्रेनें 22 मार्च से रद हैं। रेलवे ने दिल्ली को देश के विभिन्न भागों से जोड़ने वाली 15 विशेष राजधानी ट्रेनों का संचालन 12 मई से और एक जून से लंबी दूरी की 100 ट्रेनों का संचालन शुरू किया। रेलवे 12 सितंबर से 80 अतिरिक्त ट्रेनें भी चला रही है।

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: Jagran

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here