Sponsored
Accident

ज्योति को सलाम, शहीद पति की अंतिम इच्छा पूरी करने को सेना में बनीं अफसर, कहा- देश की सेवा करूंगा

Sponsored

शहीद पति की अंतिम इच्छा पूरी करने को ज्योति बनीं अफसर : चेन्नई स्थित अधिकारी प्रशिक्षण अकादमी में शनिवार का दिन खास रहा। 2018 में कुलगाम में शहीद हुए देहरादून के नायक दीपक नैनवाल की पत्नी ज्योति नैनवाल पति की अंतिम इच्छा पूरी कर सैन्य अफसर बन र्गईं। पासिंग आउट परेड के दौरान उनके बच्चे भी साथ रहे।

Sponsored

चेन्नई। चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी से एक साल का प्रशिक्षण पूरा करने के बाद ज्योति नैनवाल ने शनिवार को भारतीय सेना की अधिकारी बनकर अपने पति दीपक की अंतिम इच्छा पूरी कर दी। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों की गोलियों से घायल हुए दीपक ने अपने जीवन के अंतिम 40 दिनों के दौरान दीपक ने पत्नी ज्योति नैनवाल से सेना में शामिल होकर देश की सेवा करने की इच्छा जताई। जिंदगी और मौत की जंग के बाद 20 मई, 2018 को दीपक शहीद हो गए जिसके बाद ज्योति ने अपने पति की ही तरह देश सेवा की राह चुनी थी।

Sponsored

Sponsored

पति की ही तरह देश सेवा की राह चुनी –

Sponsored

 

देहरादून के हर्रावाला निवासी भारतीय सेना में नायक पद पर तैनात दीपक नैनवाल जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में पाकिस्तानी आतंकवादियों से लड़ते हुए दस अप्रैल, 2018 को घायल हो गए थे और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें तीन गोलियां लगीं थी। रीढ़ और छाती में गंभीर रूप से गोली लगने के कारण दीपक का निचला शरीर सभी संवेदना खो चुका था। ज्योति का कहना है कि पति के अस्पताल में भर्ती होने के दौरान 40 दिनों तक रहने और उनकी देखभाल करने की अनुमति दी गई थी। इस दौरान मुझे पता चला कि भारतीय सेना न केवल बहादुर दिलों का बल्कि उनके परिवारों का भी ख्याल रखती है। अपने जीवन के अंतिम 40 दिनों के दौरान दीपक ने पत्नी ज्योति नैनवाल से सेना में शामिल होकर देश की सेवा करने की इच्छा जताई। जिंदगी और मौत की जंग के बाद 20 मई, 2018 को दीपक शहीद हो गए जिसके बाद ज्योति ने अपने पति की ही तरह देश सेवा की राह चुनी।

Sponsored
Sponsored
Sponsored
Abhishek Anand

Leave a Comment
Sponsored
  • Recent Posts

    Sponsored