BIHARBreaking NewsNationalPoliticsSTATE

42 घंटे बाद Pappu Yadav हॉस्पिटल शिफ्ट, बाेले- वहां ले जाकर मुझे संक्रमित करना चाहते हैं

वीरपुर जेल में 42 घंटे रखने के बाद जाप प्रमुख पप्पू यादव को इलाज के लिए दरभंगा के DMCH को भेजा जा रहा है।]मधेपुरा कोर्ट ने इसका आदेश दे दिया है। सुपौल के वीरपुर जेल में उनके स्वास्थ्य की जांच करने वाले डॉक्टरों ने भी उन्हें हायर सेंटर पर भेजने की बात कही थी। इसके बाद पप्पू यादव की ओर से पटना के पीएमसीएच भेजने की मांग की गई थी। हालांकि कोर्ट ने उन्हें DMCH ले जाने का निर्देश दिया।

Sponsored

 

 

 

सोशल मीडिया पर कहा- मुझे कोरोना टाइप करने का इरादा है

Sponsored

 

 

 

पप्पू यादव को DMCH भेजे जाने के निर्णय के बाद उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट किया गया है। कहा गया है- अब मुझे DMCH दरभंगा भेजा जा रहा है। जहाँ मौत ही मौत है। पटना गांधी मैदान थाने में 9 घंटे … फिर मधेपुरा ले जाने में 4 घंटे … फिर वीरपुर लाने में 2 घंटा … फिर वीरपुर जेल के बाहर 2 घंटे … फिर जेल में 2 दिन। सब जगह ले जाएं कोरोनाटिक करने का इरादा @NitishKumar जी है? सेवा ही जुर्म है?

Sponsored

 

 

 

पटना पहुंची पत्नी रंजीत रंजन हैं

Sponsored

 

पप्पू यादव की पत्नी पूर्व सांसद रंजीत रंजन आज पटना पहुंची हैं। यहाँ उन्होंने कहा प्रेस कांफ्रेंस कर रही है बिहार सरकार को दो दिनों का अल्टीमेटम दिया गया है। पप्पू यादव के आवासीय आवास पर प्रेस काँफ्रेंस कर ने कहा कि अगर दो दिनों में पप्पू यादव को रिहा नहीं किया गया तो वे अनशन करेंगी। पप्पू यादव को परेशान किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए उनकी गिरफ्तारी की गई है। कानूनी तरीके से मधेपुरा में उन्हें मजिस्टे्ट द्वारा ही बेल दे देनी चाहिए था।

Sponsored

 

Sponsored

 

बीरपुर जेल में धरना पर बैठे पप्पू थे

Sponsored

 

32 साल पुराने अपहरण मामले में मंगलवार शाम को पटना से गिरफ्तार जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने अब वीरपुर जेल की बदियंतजामी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। सुपौल के वीरपुर जेल में मंगलवार रात से बंद पप्पू यादव ने भूख हड़ताल शुरू कर दी। बुधवार को उनके सोशल मीडिया अकाउंट से लिखा गया- मैं वीरपुर जेल में भूख हड़ताल पर हूं। यहां न पानी है न वॉशरूम है। मेरे पैर का ऑपरेशन हुआ था, इसलिए नीचे बैठ नहीं सकता था। यहाँ कमोड भी नहीं है। कोरोना मरीज की सेवा करना, उनका जान बचाना, दवा माफिया, अस्पताल माफिया, ऑक्सीजन माफिया, एम्बुलेंस माफिया को बेनकाब करना ही मेरा अपराध है। मेरी लड़ाई जारी है

Sponsored

 

 

तीन डॉक्टरों की टीम ने स्वास्थ्य जांच की, रिपोर्ट का इंतजार किया

Sponsored

 

पप्पू यादव द्वारा अपने स्वास्थ्य का हवाला देने के बाद वीरपुर जेल प्रशासन ने तीन डॉक्टरों की टीम बनाई है। इस टीम ने पप्पू यादव के स्वास्थ्य की जांच कर देर शाम तक अपनी रिपोर्ट मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को दे दी है। इस रिपोर्ट के आधार पर यह तय किया जाएगा कि पप्पू यादव जेल में रहेंगे या अस्पताल में। इससे पहले आज भूख हड़ताल पर बैठे पप्पू यादव को मनाने के लिए एसडीएम कुमार सत्येंद्र यादव और एएसपी रामानंद यादव पहुंचे। उन्होंने लगभग चार घंटे तक जेल में उन्हें मनाने की कोशिश की। हालांकि बाद में एसडीएम ने बताया कि पप्पू यादव फल-फूल ले रहे हैं।

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here