BIHARBreaking NewsSTATE

महाराष्ट्र में तीसरी लहर की दस्तक? एक जिले में 8 हजार बच्चे कोरोना संक्रमित, सरकार की तैयारी शुरू

महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर की दस्तक होती दिख रही है। अहमदनगर में सिर्फ मई के महीने में 8 हजारे से ज्यादा बच्चे कोरोना की चपेट में आ गए हैं। राज्य सरकार ने तीसरी लहर से लड़ने के लिए अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। विशेषज्ञ पहले ही बता चुके हैं कि कोरोना की आने वाली तीसरी लहर बच्चों के लिए ज्यादा खतरनाक है। महाराष्ट्र के सांगली शहर में, विशेष रूप से बच्चों के लिए एक COVID-19 वार्ड तैयार किया जा रहा है। वर्तमान में यहां पांच बच्चों का इलाज चल रहा है और अधिक मरीजों के लिए सुविधा तैयार की जा रही है।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

नगरसेवक अभिजीत भोसले ने कहा, “हमने बच्चों के लिए यह कोविड वार्ड तैयार किया है ताकि जब तीसरी लहर आए, तो हम तैयार हों। और बच्चों को यह महसूस नहीं होगा कि वे अस्पताल में हैं, बल्कि उन्हें लगेगा कि वे स्कूल या नर्सरी में हैं।”

Sponsored


Sponsored

इस महीने अहमदनगर में कम से कम 8,000 बच्चों और किशोरों के कोरोनावायरस पॉजिटिव आने पर अधिकारी चिंतित हो गए, ये जिले के लगभग 10 प्रतिशत मामले है।

Sponsored

जिला प्रशासन तीसरी लहर के लिए तैयार होने के लिए  बाल रोग विशेषज्ञों तक पहुंच रहा है, अहमदनगर के जिला प्रमुख राजेंद्र भोसले ने कहा, “अकेले मई में 8,000 बच्चे पॉजिटिव मिले। यह चिंताजनक है।”

Sponsored


Sponsored

विधायक संग्राम जगताप ने कहा, “दूसरी लहर के दौरान बिस्तर और ऑक्सीजन की कमी थी। इसलिए, हमें तीसरी लहर के दौरान इससे बचने की जरूरत है और इसलिए खुद को पूरी तरह से तैयार करने की जरूरत है।”

Sponsored

राज्य सरकार कोई जोखिम नहीं लेना चाहती है,  उन्हें उम्मीद है कि जुलाई के अंत या अगस्त की शुरुआत में संभावित तीसरी लहर आ सकती है, जिससे अधिकारियों को तैयारी के लिए लगभग दो महीने का समय मिलेगा।

Sponsored

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Input: Hindustan

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here