Sponsored
Breaking News

बालू खनन को लेकर सरकार का कड़ा फैसला, नदियों पर पुल किनारे बालू और मिट्टी निकालने पर रोक

Sponsored

राज्य में बालू खनन को लेकर नीतीश सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है। नदियों पर बने सभी पुलों के आसपास से बालू खनन पर रोक लगा दी गई है। दरअसल यह फैसला पुलों की नींव को हो रहे नुकसान की सूचना मिलने के बाद लिया गया है। सरकार ने नदियों पर बनाए गए पुल या निर्माणाधीन पुलों के आसपास बालू के खनन को पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है। ऐसा करने वालों के ऊपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Sponsored

पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी करते हुए कहा है कि पुलों की संरचना के आसपास बालू के खनन के कारण नदी के बहाव क्षेत्र में बदलाव हो रहा है और जिसकी वजह से पुलों की नींव को नुकसान पहुंच रहा है। विभाग ने कई पुलों के नाम का जिक्र करते हुए इसके संबंध में जानकारी दी है।

Sponsored

Sponsored

खासतौर पर फल्गु, पंचाने, सकरी, पुनपुन, बदुआ, चानन और गोईठवा जैसी नदियों को लेकर ऐसी जानकारी मिलने की बात कही गई है। मीणा ने कहा है कि पिछले 15 सालों में सुलभ संपर्कता और आवागमन के लिए सभी नदियों पर सैकड़ों पुलों का निर्माण कराया गया है। विभाग के संज्ञान में ऐसे कई मामले आए हैं जिसमें निर्मित फूलों के समीप बालू का खनन किया जा रहा है।

Sponsored

अब जिलों के डीएम इस बात की निगरानी कर आएंगे की फूलों के आसपास खनन नहीं हो। अगर ऐसा करता हुआ मामला सामने आया तो दोषियों के खिलाफ कड़ा एक्शन भी लिया जाएगा।

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: FirstBihar

Sponsored
Sponsored
Sponsored
Editor

Leave a Comment
Sponsored
  • Recent Posts

    Sponsored