BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

Muzaffarpur में रेल पटरियों को बारिश के पानी से बचाने की कवायद, जानिए क्या है तैयारी

मुजफ्फरपुर| पूर्व मध्य रेल मानसून की भारी बारिश से रेल पटरियों को बचाएगा। पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक के आदेश के बाद कवायद शुरू कर दी गई है ताकि बारिश में भी ट्रेनों की रफ्तार पर ब्रेक नहीं लगे। पूर्व मध्य रेल के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार के अनुसार उत्तर बिहार में कई स्थानों पर रेल पटरियों पर पानी आ जाने एवं कई स्थानों पर पुलों पर बाढ़ के पानी के भारी दबाव के कारण रेल परिचालन बाधित हो जाता है।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

मानसून के दौरान होने वाली परेशानियों से निपटने के लिए पूर्व मध्य रेल कई एहतियाती कदम उठा रहा है ताकि बाढ़ की स्थिति में जब रेल परिचालन बाधित हो तो जल्द से जल्द पुर्नबहाल किया जा सके। बाढ़-बारिश को लेकर 15 अक्टूबर तक पूर्व मध्य रेल अलर्ट मोड में है।

Sponsored


Sponsored

जलजमाव से बचाव के लिए किए गए समुचित प्रबंधक
बारिश के दौरान रेल पुलों अथवा रेलवे ट्रैकों के आस-पास जल-जमाव नहीं हो इसके लिए समुचित प्रबंध किए गए हैं। अधिकारियों की देख-रेख में लगातार इसकी निगरानी की जा रही है। चयनित स्टेशनों पर पत्थरों के बोल्डर, स्टोन डस्ट, सीमेंट की खाली बोरियां, बांस-बल्ली आदि पर्याप्त मात्रा में तैयार रखे गए हैं। सभी कल्वर्ट की सफाई की गई है।

Sponsored


Sponsored

साथ ही रेलवे ट्रैक पर पानी जमा नहीं हो इसके लिए नियमित अंतराल पर क्रास ड्रेन की व्यवस्था की गई है। सभी रेल पुलों पर बारिश के पानी के पैमाने के लिए डेंजर लेवल बनाए गए हैं। बारिश के दौरान जमा पानी को निकालने के लिए मोटर पंप आदि तैयार रखा गया है। रेल पटरियों की सुरक्षा हेतु चलाये जाने वाले सामान्य पेट्रोङ्क्षलग के साथ ही Óमानसून पेट्रोङ्क्षलगÓ की विशेष व्यवस्था की गई है जो रात में भी रेलवे पुलों एवं ट्रैकों की पेट्रोङ्क्षलग करेंगे।

Sponsored


Sponsored

एक नंबर ट्रैक पर रहता है जलजमाव
जंक्शन के एक नंबर प्लेटफॉर्म के ट्रैक पर बिना बारिश के ही जलजमाव बना रहता है। हालांकि अधिकारियों का दावा है कि आरआरआइ हो जाने से सिगनङ्क्षलग ऑफ होने का खतरा कम हो गया। फिर भी सही ड्रेनेज नहीं होने से जलजमाव की स्थिति जस की तस बनी हुई है। नए स्टेशन डायरेक्टर मनोज कुमार ने दो दिन पहले ही हिदायत दी थी कि रेलवे ट्रैक पर पानी नहीं लगना चाहिए। इंजीनियङ्क्षरग विभाग के अधिकारी पानी निकालने के प्रयास में लगे हुए हैं, लेकिन आउटलेट जाम की समस्या के कारण सही तरह से पानी का निकासी नहीं हो रही है।

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Input:JNN

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here