BIHARBreaking NewsSTATE

मुजफ्फरपुर में कोरो’ना से मौ’त: अब तक 196 मृ’तकों के आश्रितों को मुआवजा राशि के लिए मिली हरी झंडी

मुजफ्फरपुर। कोरोना से मरने वालों के आश्रितों को मुआवजा की राशि अब जारी हो रही है। सिविल सर्जन डा.विनय कुमार शर्मा ने कोरोना की मौत की समीक्षा अपने कार्यालय में की। आइडीएसपी के डाटा आपरेटर को समय पर रिपोर्ट अपलोड करने की हिदायत मिली। सीएस ने कम डाटा अपलोड होने पर नाराजगी जताई। सीएस ने बताया कि राज्य मुख्यालय को कोरोना से मरने वाले 684 लोगों की सूची भेजी गई थी। इसमें 613 लोगों की मौत को ही मुख्यालय ने अपनी सहमति दी है।

Loading...
Sponsored




Loading...
Sponsored

इसके अलावा जो बाकी नाम हैं उनको मुख्यालय को भेजा जा रहा है। वहां से स्वीकृति मिलने के बाद पोर्टल पर अपलोड किया जाएगा। जिन नाम पर मुख्यालय ने सहमति दी उसमें 322 लोगों की सूची को ही अपलोड किया गया है। सीएस ने इसमें तेजी लाने को कहा है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन और जिले के बाहर कोरोना से मरने वाले 121 लोगों की सूची बनाकर स्वीकृति के लिए मुख्यालय भेजी गई है।

Loading...
Sponsored


Loading...
Sponsored

जिले से बाहर जिन लोगों की मौत इलाज के दौरान हुई है, उनकी सूची पोर्टल पर अपलोड होने की कम संभावना है, क्योकि स्वास्थ्य मुख्यालय इसकी स्वीकृति नहीं देगा। जिले के विभिन्न सरकारी और निजी अस्पतालों में मरने वाले लोगों को ही स्वीकृति देने का प्रावधान है। इधर कोरोना से मरने वाले लोगों के दावे की सत्यता के बाद आपदा प्रबंधन विभाग ने 196 मृतकों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा राशि देने के लिए जिला आपदा प्रबंधन को आवंटित किया है। इसमें अबतक 95 लोगों को ही राशि वितरित की गई है। लगातार राशि का वितरण जारी है।

Loading...
Sponsored


Loading...
Sponsored

कोरोना से मरने वाले का ये रहा ग्राफ
जिले के कोरोना से कुल 684 लोगों की मौत हुई है। इसमें एसकेएमसीएच में 121, प्रसाद हास्पिटल में 89, अशोका हास्पिटल में 28, गैलेक्सी हास्पिटल में 23, आइटी मेमोरियल में 37, जीवन कामना में छह, मां जानकी में 24, मेडिका इमरजेंसी में 40, न्यू मानस में 15, प्रशांत हास्पिटल में 19, आरबीएम हास्पिटल में नौ, आरडीजेएम तुर्की में 26, श्री हास्पिटल में पांच, सोनाली हास्पिटल में नौ, वैशाली कोविड सेंटर में 47, सदर अस्पताल और ग्लोकल अस्पताल में 15-15 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा होम आइसोलेशन में रहने वाले 43 और पटना व स्टेट से बाहर इलाज के दौरान 47 लोगों की मौत वर्ष 2021 में हुई है।

Loading...
Sponsored


Loading...
Sponsored

पहली लहर में 202 लोगों की हुई थी मौत
जानकारी के अनुसार कोरोना की पहली लहर में 202 लोगों की मौत हुई थी। इसमें निजी अस्पताल व होम आइसोलेशन में 103 और पटना व दूसरे राज्य में 99 लोग की मौत हुई है। इसी तरह से कोरोना की पहली व दूसरी लहर मिलाकर 805 लोगों की मौत हुई है। इसमें एसकेएमसीएच, सदर अस्पताल समेत अन्य निजी व सरकारी अस्पतालों में जिले से बाहर के रहने वाले कुल 121 लोगों की मौत हुई थी।

Loading...
Sponsored


Loading...
Sponsored

कोरोना के दोनों लहर में ये रहा हाल

Loading...
Sponsored

कुल मौत-805

Loading...
Sponsored

-मुख्यालय से स्वीकृत-613
-पोर्टल पर अपलोड-322
-जिले के बाहर मौत-121

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Input: JNN

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here