BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर; Oxygen की बढ़ी मांग तो जमकर होने लगी कालाबाजारी, मुंह मांगी कीमत वसूल रहे दुकानदार व दलाल

मुजफ्फरपुर। ऑक्सीजन सिलेंडर पर विभागीय लगाम नहीं होने से बाजार में यह मुंहमांगी कीमत पर बिक रहा है। आम आदमी परेशान है। जिस तरह के मरीज वैसे ही दाम लिए जा रहे हैं। कोरोना का संक्रमण बढऩे से अब होम आइसोलेशन पर रहने वाले लोगों के साथ निजी नर्सिंग होम में भी इसकी मांग बढ़ी है। इसलिए इसकी मनमानी कीमत ली जा रही है। कांटी के मुकेश कुमार ने शिकायत की कि उनके एक स्वजन के लिए घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए 15 हजार की राशि मांगी। अंत में 10 हजार पर बात बनी। इसके बाद वह मिला।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

ब्रह्मपुरा थाने में पहुुंचा मामला 
समाजसेवी अविनाश तिरंगा ने एक ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वाले से संपर्क किया। उनसे पहले सिलेंडर नहीं होने की बात कही गई। जब वह पूरी कीमत देने को तैयार हुए तो ऑक्सीजन सिलेंडर देने पर दुकानदार राजी हुआ। उन्होंने इसकी शिकायत ब्रह्मïपुरा पुलिस के साथ जिलाधिकारी व सिविल सर्जन से की है।

Sponsored

तीन गुना बढ़ गई मांग 
कोरोना संक्रमण में अप्रत्याशित वृद्धि होने से ऑक्सीजन सिलेंडर की डिमांड काफी बढ़ गई है। विगत दो सप्ताह से मरीजों की संख्या बढऩे के साथ ही ऑक्सीजन सिलेंडर की तीन गुना डिमांड बढ़ गई है। जानकारों के अनुसार जिले से पटना के लिए भी प्रतिदिन करीब डेढ़ सौ सिलेंडर भेजे जा रहे हैैं। होम आइसोलेशन में रहने वालों को ऑक्सीजन की जरूरत होने से मांग बढ़ी है। बताते हैैं कि बेला में पाटलिपुत्रा और एसबीजी एयर प्रोडक्ट््स नामक दो कंपनियां ऑक्सीजन बनाती हंै। कोरोना के चलते मांग को लेकर इन कंपनियों के सामने उत्पादन कम पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार मार्च में 50 से 60 सिलेंडर का ऑर्डर मिलता था जो अब डेढ़ से दो सौ के करीब पहुंच गया है। जिले के साथ दूसरी जगहों से भी मांग हो रही है।

Sponsored

एसकेएमसीएच में ढाई सौ सिलेंडर की प्रतिदिन जरूरत
एसकेएमसीएच के अधीक्षक डॉ.बीएस झा ने बताया कि कोरोना वार्ड से लेकर एमसीएच, पीकू समेत सभी जगहों पर ऑक्सीजन की सप्लाई पाइप से की जाती है। इसमें प्रतिदिन करीब ढाई सौ सिलेंडर की आवश्यकता होती है। आउटसोर्सिंग से सिलेंडर मंगाए जाते हैैं। उनके यहां पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन है। इधर सरकार की ओर से संंचालित सदातपुर स्थित ग्लोकल अस्पताल में 15 ऑक्सीजन सिलेंडर रिजर्व में रखे गए हैं। इस अस्पताल में अभी एक भी मरीज भर्ती नहीं है।

Sponsored

प्रसाद अस्पताल के पास अपना प्लांट 

Sponsored

ब्रह्मïपुरा स्थित प्रसाद हॉस्पिटल के प्रबंधक अमर कुमार ने बताया कि अस्पताल का अपना ऑक्सीजन का प्लांट है। निदेशक वरीय हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ.उपेंद्र प्रसाद का बताया कि अपना ऑक्सीजन प्लांट होने से बाहर से इसकी आपूर्ति नहीं ली जाती। ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। जितनी चाहिए उतना उत्पादन हो रहा है।

Sponsored

संक्रमण बढ़ते दाम में आया उछाल 

Sponsored

– पहले 300 से 500 वाले ऑक्सीमीटर अब 1500 से 1800 के बीच बिक रहे।

Sponsored

– कोरोना संक्रमण से पहले 15 लीटर वाला सिलेंडर पांच से साढ़े पांच हजार तक में मिलता था। अभी उसकी कीमत छह से 10 हजार तक वसूली जा रही है।

Sponsored

इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. एसके चौधरी ने कहा कि ऑक्सीजन, दवा व इलाज पर पूरी नजर रखी जा रही है। कीमत की जानकारी के लिए ड्रग इंस्पेक्टर के साथ बैठक कर उसे सार्वजनिक किया जाएगा। आम आदमी से अपील है कि अगर कोई शिकायत है तो बताएं। उसका निदान होगा।

Sponsored

Ads

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: JNN

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here