BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

थाने में महिला सिपाही को हुआ वर्दीवाले से प्यार, आशिक के साथ मिलकर कर डाली अपने ही पति की हत्या

साथी पुलिसकर्मी से प्रेम प्रसंग को लेकर एक महिला सिपाही ने ऐसी खौफनाक घटना को अंजाम दिया कि उसके बारे में जानकार आपका दिल दहल जायेगा. दरअसल एक महिला सिपाही ने वर्दीवाले आशिक के साथ मिलकर अपने ही पति को मौत के घाट उतार दिया. जब पुलिस ने इस हत्याकांड का खुलासा किया तो सबके होश उड़ गए.

Sponsored

मामला पालघर जिले का है, जहां मुंबई-अहमदाबाद हाईवे पर हुई एक व्यक्ति की हत्या वाले मामले में मुंबई पुलिस ने एक बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने इस हत्याकांड को अंजाम देने वाले और इसकी साजिश रचने वाले 5 लोगों को अरेस्ट कर लिया है. बता दें कि जिस व्यक्ति की हत्या की गई, उसकी पत्नी मुंबई पुलिस में कांस्टेबल है, जो अपने ही डिपार्टमेंट में कार्यरत सिपाही से प्यार करती है. चूंकि महिला सिपाही का पति एक ऑटो ड्राइवर था इसलिए इन्होंने साजिश के तहत उसकी हत्या कर इस घटना को एक्सीडेंट साबित करने की कोशिश की.

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

अब मुंबई पुलिस ने पांच लोगो को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने खुलासा किया है कि पति की हत्या खुद महीअल सिपाही स्नेहल ने ही अपने वर्दीवाले आशिक के साथ मिलकर कराई थी. हालांकि दोनों अब पुलिस की हिरासत में आ गए हैं. दोनों मुख्य आरोपी पुलिस विभाग में ही काम करते हैं. स्नेहल का पति पुंडलिक ऑटो रिक्शा चलता था और हत्या के बाद मामले को दुर्घटना की तरह दिखाने के लिए आरोपियों ने उसे ऑटो समेत एक नाले में फेंक दिया गया था.

Sponsored

बताया जा रहा है कि थाने में किसी पुलसीवाले के साथ प्रेम संबंध की जानकारी स्नेहल के पति पुंडलिक पाटिल को भी हो गई थी. इसके बाद स्नेहल के साथ उसके झगड़े शुरू हो गए थे. इसी बात से नाराज महिला सिपाही ने अपने पति को जीवन का कांटा समझना शुरू कर दिया और उसने इस कांटे को अपनी लाइफ से हमेशा-हमेशा के लिए निकाल फेंकने की साजिश रच डाली. महिला ने अपने प्रेमी की मदद ली और पति को मौत की नींद सुला दी.

Sponsored

इस मामले में पुलिस ने कॉन्सटेबल स्नेहल पाटिल, पुलिस कॉन्सटेबल विकास वसंत पश्ते , स्वप्निल मार्तंड गौरी, अविनाश भोईर और विशाल पाटिल को अरेस्ट किया गया है. जांच में सामने आया है कि पुंडलिक की हत्या विकास वसंत पश्ते ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर की थी. विकास ने इस वारदात को अंजाम देने के लिए तीन अन्य लोगों को ढाई लाख रुपए दिए थे.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: FirstBihar

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here