ADMINISTRATIONBIHARBreaking NewsEDUCATIONNationalPolicePolitics

ISRO को मिली बड़ी सफलता, गगनयान के लिए क्रायोजेनिक इंजन का परीक्षण रहा सफल

ISRO के गगनयान मिशन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। दरसल ISRO गगनयान मिशन को लेकर एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। काफी लंबे समय से चल रहे क्रायोजेनिक इंजन के परीक्षण में आखिरकार वैज्ञानिकों की टीम ने सफलता हासिल कर ली। हालांकि अब इस मिशन को रफ्तार मिलेगी। फिलहाल इसके लिए अभी और परीक्षण किए जाएंगे। इसके साथ ही इसरो को नया चीफ मिल गया है जिनका नाम एस सोमनाथ बताया जा रहा है।

Loading...
Sponsored

हालांकि इसका परीक्षण तमिलनाडु के महेंद्रगिरी में इसरो प्रणोदन परिसर (प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स) में 720 सेकंड की अवधि के लिए क्रायोजेनिक इंजन का गुणवत्ता परीक्षण किया गया जो सफल रहा। बेंगलुरु स्थित एजेंसी ने बताया कि बुधवार को हुआ इंजन का प्रदर्शन परीक्षण के उद्देश्यों के अनुरूप रहा। ISRO ने अपने एक बयान में कहा की, यह सफल परीक्षण मानव अंतरिक्ष कार्यक्रम – गगनयान के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। यह गगनयान के लिए क्रायोजेनिक इंजन की विश्वसनीयता एवं मजबूती को सुनिश्चित करता है। ISRO के बयान के मुताबिक, इस इंजन 4और परीक्षण किया जाएगा जो 1810 सेकंड के होंगे।

Loading...
Sponsored

इसरो ने यह भी बताया कि इसके बाद एक और इंजन के 2 छोटी अवधि के परीक्षण किए जाएंगे और गगनयान कार्यक्रम के लिए क्रायोजेनिक इंजन अपनी गुणवत्ता पर खरा उतरने के लिए एक लंबी अवधि का परीक्षण किया जाएगा। इसरो अध्यक्ष के सिवन ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि भारत की महत्वाकांक्षी गगनयान परियोजना का, डिजाइन वाला चरण पूर्ण हो गया है तथा यह परीक्षण के चरण में प्रवेश कर गया है। उन्होंने कहा था, भारत की आजादी (15 अगस्त 2022) की 75वीं वर्षगांठ से पहले भारत का पहला मानवरहित मिशन भेजने का निर्देश है और इसके लिए सभी पक्षकार सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं। मुझे विश्वास है कि हम इस लक्ष्य का पूरा कर लेंगे। हालांकि इस दिशा में इसरो की टीम तेजी से आगे बढ़ती दिख रही है। मन जा रहा है कि आगामी स्वतंत्रता दिवस के शुभ अवसर पर यह पूरा हो
जाएगा।

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here