BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मां के पैरों से लिपटा बेटे का शव, समय पर इलाज न मिलने से युवक की मौत, जानिए पूरा मामला

ई रिक्शा में बदहवास बैठी महिला और उसके कदमों में पड़ी जवान बेटे की लाश। आत्मा को झकझोर देने वाली हृदय विदारक तस्वीर वाराणसी से वायरल हुई। मां अपने बेटे की किडनी का इलाज कराने उसे लेकर बनारस आई थी, लेकिन कहा जा रहा है कि इलाज में देरी के चलते बेटे की मौत हो गई और शव लेे जाने के लिये उसे कोई एंबुलेंस भी मयस्सर नहीं हुआ, जिसके बाद दुखियारी मां ई रिक्शा में बेटे का शव इस हाल में ले जाने को मजबूर हुई। जब ये तस्वीर सोशल मीडिया पर आई तो खूब वायरल होने लगी।

Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

जानकारी के मुताबिक मुंबई में रहकर काम करने वाला जौनपुर निवासी युवक शादी के किसी आयोजन में भाग लेने के लिये आया हुआ था। इसी बीच उसकी तबीयत बिगड़ी तो उसे इलाज के लिये वाराणसी ले जाया गया। पर यहां उसे भर्ती नहीं कराया जा सका और कहा जा रहा है कि इलाज में देरी से उसकी मौत हो गई। इसके बाद शव ले जाने के लिये एंबुलेंस नहीं मिली तो दुखियारी मां ई रिक्शा में ही जैसे तैसे बेटे का शव (Dead Body in E Rickshaw) लेकर चल दी।

Sponsored


Sponsored

बताते चलें कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर (Corona Second Wave) आने के बाद प्रदेश के दूसरे शहरों की तरह वाराणसी में स्वस्थ्य व्यवस्था का बुरा हाल है। अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। वारराणसी में बीते दिन 2500 से अधिक केस सामने आए। यहां 16,152 कोरोना एक्टिव केस हैं जबकि अब तक 525 की मौत हो चुकी है। लखनऊ के बाद सबसे अधिक एक्टिव केस के मामले में वाराणसी दूसरे नंबर पर है।

Sponsored

Ads

Sponsored

Ads

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: Patrika

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here