BIHARBreaking NewsSTATE

प्राइवेट के बाद अब सरकारी बसों का किराया बढ़ेगा, होली से पहले आम आदमी को एक और झटका

होली पर घर जाना महंगा हो गया है। निजी बसों ने रविवार रात से बीस फीसदी भाड़ा बढ़ा दिया है। हालांकि, कुछ बस संचालक दो दिन पहले से ही बढ़ा हुआ भाड़ा वसूल रहे हैं। सूत्रों के अनुसार सरकारी बसों में भाड़ा बढ़ाने का प्रस्ताव परिवहन निगम को भेज दिया गया है। मीठापुर बस स्टैंड से खुलने वाली ज्यादातर रूटों की निजी बसों में किराया बीस फीसदी तक बढ़ाया गया है।

Sponsored

इस तरह उत्तर बिहार के अलावा बिहारशरीफ, नवादा और अन्य जगहों के यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में ज्यादा खर्च करना पड़ेगा। इससे पहले 02 अक्टूबर 2018 को बस का किराया बढ़ाया गया था। बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन का कहना है कि डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के कारण किराया बढ़ाना मजबूरी है।

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

फेडरेशन ने यात्रियों से सहयोग करने की अपील की है। फेडरेशन के अध्यक्ष उदय शंकर प्रसाद सिंह ने बताया कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों वृद्धि के बाद बस परिचालन घाटे में हो रहा है। इसलिए किराया बढ़ाना मजबूरी है।

Sponsored

कहां से कहां तक – नॉन एसी – एसी
पटना से फतुहा : 30 रुपये – 40 रुपये
पटना से शेखपुरा : 125 रुपये – 145 रुपये
पटना से बरबीघा : 115 रुपये – 125 रुपये
पटना से राजगीर : 100 रुपये – 120 रुपये
पटना से वारिसलीगंज मोड़ : 110 रुपये – 130 रुपये
पटना से वारिसलीगंज : 120 रुपये – 140 रुपये
पटना से जहानाबाद : 75 रुपये – 85 रुपये
पटना से पकरीबरामा : 130 रुपये – 150 रुपये
पटना से अरेराज : 220 रुपये – 270 रुपये
पटना से नरकटियागंज : 290 रुपये – 340 रुपये
पटना से बगहा : 295 रुपये – 340 रुपये
पटना से पूर्णिया (भाया बेगूसराय) : 540 रुपये – 595 रुपये
पटना से सहरसा (भाया बेगूसराय) : 445 रुपये – 490 रुपये
पटना से मधेपुरा (भाया बेगूसराय) : 455 रुपये – 505 रुपये

Sponsored

Sponsored

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here