BIHARBreaking NewsSTATE

शर्मनाक; बिहार में आर्थिक तंगी के चलते एक ही परिवार के 5 लोग फंदे से झूले, 6 दिन बाद पता चला तब तक लाशें गल चुकी थी

मेहनत-मजदूरी की जगह पुश्तैनी जमीन बेचकर खाने और नशे में उड़ाने की परिणति शुक्रवार देर रात बिहार के सीमावर्ती जिले सुपौल के राघोपुर में सामने आई। 10 कट्‌ठा जमीन बिक चुकी थी, अंतिम 5 कट्‌ठा नहीं बिक रहा था तो आर्थिक संकट आ गया। न खाने के पैसे थे और न पीने के, तो 2 बेटी, एक बेटा और पत्नी के साथ मिश्री लाल साह फंदे पर झूल गया। घर से उठती सड़ांध से सपरिवार खुदकुशी का यह मामला खुला। अंतिम बार 6 दिन पहले जन वितरण प्रणाली (PDS) की दुकान पर मिश्री लाल को देखा गया था और लाशें भी गल चुकी हैं, इसलिए माना जा रहा है कि आत्महत्या 5-6 दिन पहले की गई होगी।

Sponsored

गद्दी वार्ड नंबर 12 में एक परिवार के पांच लोगों की मौत की खबर सुनते ही इलाके में सनसनी मच गई। घटनास्थल पर ग्रामीणों की भीड़ उमड़ गई। गांव के मुखिया मो. तस्लीम समेत कई लोगों ने इस घटना के पीछे की वजह आर्थिक तंगी को बताया। लोग का कहना है कि वह पिछले 2 साल से कोई काम-काज नहीं करता था। रोजाना शराब भी पीता था।

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

भागलपुर से आई FSL की टीम

Sponsored

इधर, घटना की सूचना की मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। भागलपुर से फोरसिंग टीम को भी बुलाया गया। फोरेंसिक टीम के अधिकारियों ने अपने सामने दरवाजा खुलवाया और जरूरी साक्ष्य जुटाए। इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। SP मनोज कुमार ने बताया कि एक ही परिवार के 5 लोगों की लाश फंदे से लटकी हुई मिली। लाश से तेज दुर्गंध आ रही थी। FSL की टीम ने माना है कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का लगाता है। शेष पोस्टमार्टम और बेसरा रिपोर्ट से क्लियर होगा। मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Sponsored

6 मार्च को अंतिम बार देखा गया था

Sponsored

मृतकों की पहचान मिश्री लाल साह (52) पत्नी रेणु देवी (44) बेटी रौशन कुमारी (15) व फूल कुमार (8) और बेटा ललन कुमार (14) साल के रूप में हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि मिश्री लाल को अंतिम बार 6 मार्च को गांव में ली PDS दुकान पर देखा गया था। वह राशन लेने आया था। शुक्रवार देर रात घर से आ रही बदबू के बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। लोग वहां पहुंचे तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था। संदेह होने पर लोगों ने घर की खिड़की से झांका तो देखा पांचों फंदे से झूल रहे थे।

Sponsored

जमीन बेचकर रोजी-रोटी चलाता था

Sponsored

ग्रामीण का कहना है कि मिश्री लाल साह पिछले 2 साल से कोई काम नहीं करता था। पैतृक संपत्ति के बंटवारे के बाद 15 कट्‌ठा जमीन मिली थी। जमीन बेचकर रोजी-रोटी चलाता था। पड़ोसियों का कहना कि मिश्री लाल साह को शराब की भी लत थी। वह अपने हिस्से का 10 कट्‌ठा जमीन बेच चुका। बाकी बचे 5 कट्‌ठा जमीन अधूरे कागजात होने के कारण नहीं बिक रहे थे। इसके कारण तंगहाली आ गई थी। गांव में वह लोगों से कम बातचीत करता था। हमेशा नशे में रहता था।

Sponsored

नए कपड़े पहन कर दी जान

Sponsored

पुलिस ने सभी की लाशों को जब बाहर निकाला तो सभी नए में थे। ग्रामीणों का कहना है कि ऐसा प्रतीत होता है कि पांचों ने पहले नए कपड़े पहने और अच्छे तैयार होने के कारण फंदे से लटक कर जान दे दी।

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: Bhaskar

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here