BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

शादियों के सीजन और छठ महापर्व से पहले बिहार को फिर डरा रहा कोरोना, आशंका- क्या कुछ छूट वापस लेगी सरकार?

अप्रैल महीने में चैती नवरात्र, श्री राम नवमी पूजा, छठ महा पर्व सहित कई महत्वपूर्ण पर्व, त्योहार व व्रत हैं. इसी माह के तीसरे हफ्ते में शादियों का सीजन भी शुरू हो रहा है मगर बिहार को कोरोना ने फिर से डराना शुरू कर दिया है. बिहार में कोरोना की दूसरी लहर काफी खतरनाक है. राज्य में बीते 30 दिन में कोरोना के कारण 37 लोगों की जान गयी है वहीं करीब 12 गुणा मामले तेजी से बढ़े हैं. हालात ये हैं कि बिहार में एक्टिव मामलों की संख्या 1907 हो गयी है.

Sponsored

टेंशन की बात ये है कि गुरुवार को एक दिन में सर्वाधिक 488 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान की गयी. सरकार ने जिस तरह से जांच बढ़ाई है मामले भी उतनी ही तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना की नयी लहर को लेकर राज्य सरकार अलर्ट है. कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण कई राज्यों में आंशिक लॉकडाउन लगा है तो कहीं स्कूल भी बंद हुए हैं. ऐसे में बिहारवासियों को ये आशंका है कि आगामी व्रत त्योहार और शादियों के सीजन को देखते हुए कहीं राज्य सरकार कोई बंदिशें ना लगा दे.

Sponsored

Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Sponsored

बीते वर्ष अप्रैल में लॉकडाउन था सो बड़ी संख्या में शादियां प्रभावित हुईं थी. इस बार भी शादियों के सीजन में और छठ महापर्व के अवसर पर दूसरे राज्यों से बड़ी संख्या में लोग बिहार आएंगे तो कोरोना का खतरा भी बढ़ेगा. पटना सहित प्रमुख रेलवे स्टेशनों और बस स्टैंड पर रैंडम कोविड जांच किया जा रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार संक्रमण की स्थिति का रिपोर्ट ले रहे हैं. अगर आने वाले दिनों में मामलों की संख्या ऐसे ही बढ़ती रही तो आपदा प्रबंधन की बैठक बुलाकर कुछ कड़े फैसले लिए जा सकते हैं.

Sponsored

शादी-ब्याह के मामलों में सबसे ज्यादा परेशानी
कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण और पाबंदियों छूट वापस लेने की आशंका के कारण सबसे अधिक परेशनी शादी ब्याह के मामलों में है. लॉकडाउन के कारण बीते साल 2020 में बड़ी संख्या में लोगों ने शादी ब्याह टाल दिया था. संक्रमण की संख्या में कमी को देखते हुए इस वर्ष अप्रैल और मई में लगन की तिथि तय की गई थी. अब संक्रमण बढ़ने और पाबंदियों छूट की कमी के कयास लगाए जा रहे हैं.

Sponsored

बिहार में कोरोना हुआ बेलगाम
बिहार स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राज्य में एक मार्च 2021 को सिर्फ 369 पॉजिटिव केस थे और एक अप्रैल को यह संख्या बढ़कर 1907 हो गई. गुरुवार के सामने आए नए केस में 174 अकेले पटना से हैं. समस्तीपुर में 56, गया में 19, जहानाबाद में 17, भागलपुर में 16 और वैशाली में 15 नए केस सामने आए हैं.शुक्रवार की रिपोर्ट देखकर अगर आप सावधान नहीं हुए और कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन नहीं किए तो आने वाले दिनों में न सिर्फ संक्रमण का दायरा बढ़ेगा बल्कि मौत का ग्राफ भी तेजी से आगे बढ़ सकता है.

Sponsored

कोरोना गाइडलाइन को लेकर सख्‍ती
कोरोना का साया फिर से मंडराता देख स्वास्थ्य विभाग पूरे राज्य में मास्क जांच अभियान शुरू कर दिया है. विभाग ने लोगों से अपील की कि लोग कोरोना को लेकर लापरवाही ना करें. दूसरे राज्यों से आने वालों लोगों पर विशेष नजर रखी जा रही है. एयरपोर्ट और ऱेलवे स्टेशन पर कोरोना जांच तेज कर दिया गया है. एक माह पहले रोजाना 35 हजार होने वाली जांच अब बढ़ाकर 65 हजार के पार कर दी गई है. जांच के साथ बढ़ रहे कोरोना के मामले चिंता बढ़ा रहे हैं.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input: PK

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here