BIHARBreaking NewsEDUCATIONNational

Bihar की संप्रीति को Google ने दिया 1.10 करोड़ का पैकेज, FlipKart एवं एक्सपेडिया कंपनी से भी मिला था जॉब का ऑफर

लक्ष्य निर्धारित कर सकारात्मके सोच के साथ अगर परिश्रम की जाए, तो सफलता अवश्य मिलेगी है। बिहार की एक बेटी संप्रीति यादव ने यह सच कर दिखाया है। संप्रीति का कहना है कि गोल तय कर आगे बढ़ो, सफलता अवश्य मिलेगी, नाटक, संगीत एवं खेल के साथ-साथ पढ़ाई में भी हमेशा अव्वल रहने वाली संप्रीति को सॉफ्टवेयर इंजीनियर की नौकरी के लिए गूगल ने 1 करोड़ 10 लाख के सालाना पैकेज दी है। 14 फरवरी से यह गूगल में कार्य प्रारंभ करेंगी। MBA कर वह और आगे बढ़ना चाहती हैं। राजधानी पटना के नेहरूनगर में रहने वाले बैंक अधिकारी रामाशंकर यादव और योजना व विकास विभाग की सहायक निदेशक शशि प्रभा की बेटी हैं संप्रीति।

Sponsored

इन्होंने 2014 में नोट्रेडम एकेडमी से 10 सीजीपीए के साथ मेट्रिकुलेशन किया था। दिल्ली के इंटरनेशनल स्कूल से 12 वीं करने के बाद 2016 में जेईई मेंस पास की। 2021 मई में दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस से बीटेक करने के बाद कैंपस सेलेक्शन में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में 44 लाख की पैकेज पर अभी काम कर रही हैं। एडोव, फ्लिप कार्ट और एक्सपेडिया कंपनी से भी इन्हें जॉब का ऑफर मिला था। संप्रीति को संगीत, नाटक और खेल में खास रुचि है। IIT दिल्ली, IIT मुंबई सहित 50 से अधिक कॉलेजों में ट्रेडमिल नाटक में भूमिका निभा चुकी है। नुक्कड़ नाटकों में भाग लेती रही। 3 साल तक क्लासिकल म्यूजिक का भी प्रशिक्षण ली थी। इंटरनेशनल मैथ ओलंपियाड में 35 वां एवं नेशनल साइंस ओलंपियाड में 170 वां स्थान हासिल किया था।

Sponsored

सिर्फ इतना ही नही अंग्रेजी डिबेट और कविता प्रतियोगिता में भी अवाॅर्ड प्राप्त कर चुकी है। टेनिस में पुरस्कार जीती हुई है। गूगल ने ऑनलाइन विभिन्न लेवल पर 9 राउंड इंटरव्यू लिया। संप्रति के हर राउंड के जवाब से गूगल संतुष्ट रहा, इसके बाद जॉब का ऑफर दिया। संप्रीति बताती हैं कि गणित उनका पसंदीदा विषय था। बचपन से ही उनका इंजीनियर बनने का लक्ष्य था। इंटरमीडिएट से कंप्यूटर इंजीनियर बनने का लक्ष्य लिया। 7 से 8 घंटे रोजाना पढ़ाई करती थीं। इंजीनियरिंग कॉलेज में जाने की इच्छा बढ़ती गई। शिक्षकों ओर दोस्तों ने हमेशा आगे बढ़ने के लिए मोटिवेट किया। संप्रीति की मां गणित से एमएससी हैं, जो गणित में उन्हें शुरू से मदद की।

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here