BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

बंगाल में चुनाव खत्म सख्ती शुरू: वोटिंग खत्म होने के अगले ही दिन मॉल से लेकर जिम तक सब बंद, सार्वजनिक जमावड़े पर रोक

विधानसभा चुनाव के बाद आखिरकार पश्चिम बंगाल की सरकार ने भी कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सख्त फैसला लिया है। राज्य सरकार ने शुक्रवार को बंगाल में सभी सार्वजनिक स्थल अगले आदेश तक बंद रखने का फैसला किया है। इस दौरान सार्वजनिक और सांस्कृतिक जमावड़ों पर भी रोक रहेगी। केवल बाजारों को दिन में 2 बार खुलने की छूट मिलेगी। बंगाल में गुरुवार को ही आठवें और अंतिम चरण की वोटिंग हुई है। इसके अगले दिन शुक्रवार को राज्य सरकार ने बंगाल में सभी सार्वजनिक स्थलों को बंद करने का आदेश दिया है।

Loading...
Sponsored


Muzaffarpur Wow Ads Insert Website

Loading...
Sponsored

बंगाल में अब किन चीजों पर पाबंदी

Loading...
Sponsored
  • सभी शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मॉल, ब्यूटी पार्लर, सिनेमा हॉल, रेस्टोरेंट-बार, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, जिम, स्पा और स्वीमिंग पूल बंद रहेंगे।
  • सांस्कृतिक, सामाजिक, धार्मिक और शैक्षणिक जमावड़ों पर रोक लगा दी गई है।
  • मतगणना और जीत की रैलियों के दौरान चुनाव आयोग की गाइडलाइन का पालन करना होगा। काउंटिंग हॉल के पास भीड़ जमा नहीं होनी चाहिए। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।


Loading...
Sponsored

किन चीजों में सहूलियत मिलेगी

Loading...
Sponsored
  • बाजार और हाट दिन में सुबह 7 से 10 और दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक खुल सकेंगे।
  • होम डिलिवरी और ऑनलाइन सर्विसेस जारी रहेंगी।
  • मेडिकल शॉप, मेडिकल इक्विपमेंट्स की शॉप, राशन दुकानों पर रोक नहीं रहेगी।


Loading...
Sponsored

मद्रास हाईकोर्ट ने लगाई थी चुनाव आयोग को फटकार
5 राज्यों के विधानसभा चुनाव के दौरान हुई रैलियों को लेकर मद्रास हाईकोर्ट में पिछले दिनों सुनवाई हुई थी। इस दौरान चीफ जस्टिस संजीब बनर्जी ने चुनाव आयोग से पूछा था, ‘जब चुनावी रैलियां हो रही थीं, तब आप दूसरे ग्रह पर थे क्या? रैलियों के दौरान टूट रहे कोविड प्रोटोकॉल को आपने नहीं रोका। बिना सोशल डिस्टेंसिंग के चुनावी रैलियां होती रहीं। कोरोना की दूसरी लहर के लिए आप जिम्मेदार हैं। चुनाव आयोग के अफसरों पर तो संभवत: हत्या का मुकदमा चलना चाहिए।’

Loading...
Sponsored


Loading...
Sponsored

काउंटिंग को लेकर HC ने दिए थे चुनाव आयोग को 6 निर्देश
1. आप इसे सुनिश्चित कीजिए कि काउंटिंग के दिन कोविड प्रोटोकॉल पर अमल हो।
2. किसी भी कीमत पर राजनीतिक या गैर-राजनीतिक वजह से काउंटिंग का दिन कोरोना के मामलों को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार नहीं होना चाहिए।
3. या तो काउंटिंग कोविड प्रोटोकॉल के साथ हो या फिर उसे टाल दिया जाएगा।
4. लोगों की सेहत सबसे अहम है। यह बात परेशान करती है कि प्रशासन को इस बात की याद दिलानी पड़ती है।
5. जब नागरिक जिंदा रहेंगे, तभी वे उन अधिकारों का इस्तेमाल कर पाएंगे, जो उन्हें इस लोकतांत्रिक गणराज्य में मिले हैं।
6. आज के हालात जिंदा रहने और लोगों को बचाए रखने के लिए हैं, दूसरी सारी चीजें इसके बाद आती हैं।

Loading...
Sponsored

Ads

Loading...
Sponsored

Ads

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

Input: Bhaskar

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here