Sponsored
Breaking News

बिहार में गंगा किनारे 40 से अधिक लाशें मिलने का क्या है मामला

Sponsored

बिहार के बक्सर ज़िले के चौसा प्रखंड के चौसा श्मशान घाट पर गंगा में कम से कम 40 लाशें तैरती हुई मिली हैं.

Sponsored

स्थानीय प्रशासन ने बीबीसी से बातचीत में इसकी पुष्टि की है. लेकिन स्थानीय पत्रकारों ने दावा किया है कि उन्होंने श्मशान घाट पर इससे ज़्यादा लाशें देखी हैं.

Sponsored




Sponsored

स्थानीय स्तर पर जो तस्वीरें आई हैं वो दिल दहला देने वाली हैं. लाशों को जानवर नोचते दिख रहे थे.

Sponsored

चौसा के प्रखंड विकास पदाधिकारी अशोक कुमार ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा, “30 से 40 की संख्या में लाशें गंगा में मिली हैं. इस बात की संभावना है कि ये लाशें उत्तर प्रदेश से बहकर आई हैं. मैंने घाट पर मौजूद रहने वाले लोगों से बात की है, जिन्होंने बताया कि लाशें यहाँ की नहीं है.”

Sponsored


Sponsored

इस बीच बक्सर ज़िलाधिकारी अमन समीर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है, “हम लोग ज़िलाधिकारी गाजीपुर और बलिया के साथ समन्वय स्थापित कर रहे है ताकि उनके इलाक़े की लाशों का दाह संस्कार वही कर दिया जाए. लेकिन फिर भी कोई लाश बक्सर के इलाक़े में आ जाती है, तो उसका पूरे सम्मान के साथ संस्कार किया जाएगा.”बता दे बक्सर ज़िला, उत्तरप्रदेश और बिहार राज्य का सीमावर्ती ज़िला है. गंगा नदी के किनारे बसे इस ज़िले के उत्तर मे यूपी का बलिया ज़िला और पश्चिम में गाजीपुर ज़िला है.

Sponsored


Sponsored

स्थानीय लोगों की अलग राय
लेकिन स्थानीय पत्रकार सत्यप्रकाश प्रशासन के दावे को स्वीकार नहीं कर रहे हैं.

Sponsored

उनके मुताबिक, “अभी गंगा जी के पानी में धार नहीं है. पुरवैया हवा चल रही है, ये पछिया का तो समय नहीं है. ऐसे में लाश बहकर कैसे आ सकती है?”

Sponsored


Sponsored

वो आगे बताते हैं, “नौ मई को सुबह पहली बार मुझे पता चला, मैंने वहाँ 100 क़रीब लाशें देखीं. जो 10 मई को बहुत कम हो गईं. दरअसल बक्सर के चरित्रवन घाट का पौराणिक महत्व है और अभी वहाँ कोरोना के चलते लाशों को जलाने की जगह नहीं मिल रही है. इसलिए लोग लाशों को आठ किलोमीटर दूर चौसा श्मशान घाट ला रहे हैं.”

Sponsored


Sponsored

“लेकिन इस घाट पर लकड़ी की कोई व्यवस्था नहीं है. नाव का भी परिचालन बंद है, इसलिए लोग लाशों को गंगा जी में ऐसे ही प्रवाहित कर रहे हैं. नाव चलती है तो कई लोग लाश में घड़ा बांधकर गंगा जी की बीच धार में प्रवाहित कर दे रहे हैं.”

Sponsored

वहीं घाट पर मौजूद रहने वाले पंडित दीन दयाल पांडे ने स्थानीय पत्रकारों से बातचीत में बताया, “अमूमन इस घाट पर दो से तीन लाशें ही रोज़ाना आती थीं लेकिन इधर बीते 15 दिन से यहाँ तकरीबन 20 लाशें आती हैं. ये जो शव गंगा जी में तैर रहे हैं, ये संक्रमित लोगों के शव हैं. यहाँ गंगा जी में बहाने से हम लोग मना करते हैं, लेकिन लोग मानते नहीं हैं. प्रशासन ने यहाँ चौकीदार लगाया है, लेकिन उनकी कोई बात नहीं सुनता.”

Sponsored


Sponsored

वहीं घाट पर रहने वाली अंजोरिया देवी बताती है, “लोगों को मना करते है, लेकिन लोग ये कहकर लड़ते हैं कि तुम्हारे घरवालों ने हमें लकड़ी दी है जो हम लकड़ी लगाकर शव जलाएँ.”

Sponsored

फ़िलहाल बक्सर प्रशासन घाट पर जेसीबी मशीन से गड्डा खुदवाकर लाशों को दफ़नाने की प्रक्रिया पूरी कर रहा है.

Sponsored

पूरे बक्सर ज़िले की बात करें तो बक्सर के स्थानीय पत्रकार बताते है कि यहाँ कोविड संक्रमित मरीज़ों के दाह संस्कार में 15-20 हज़ार रुपए ख़र्च हो रहे हैं.

Sponsored


Sponsored

वहीं स्थानीय निवासी चंद्रमोहन कहते हैं, “प्राइवेट अस्पताल में लूट मची है. आदमी के पास इतना पैसा नहीं बचा कि वो श्मशान घाट पर भी जाकर पंडित पर पैसे लुटाए. एंबुलेंस से शव उतारने के लिए तो दो हज़ार रुपए मांगा जा रहा है. ऐसे में गंगा जी आसरा बची हैं. लोग गंगा में शव बहा रहे हैं.”

Sponsored


Sponsored

बिहार में कोरोना के बढ़ते मामले
कोरोना मरीज़ों की अगर बात करें तो 9 मई तक राज्य में 1,10,804 एक्टिव केस हैं. जबकि रिकवरी दर 80.71 फ़ीसदी है.

Sponsored

बक्सर ज़िले की बात करें, तो यहाँ 1216 एक्टिव केस हैं जबकि 26 की मौत हो चुकी है.

Sponsored

राज्य स्वास्थ्य समिति के मुताबिक़ अब तक राज्य में 80,38,525 लोगों ने कोविड टीकाकरण करवाया है.

Sponsored


Sponsored

सबसे ज़्यादा एक्टिव केस राजधानी पटना में हैं.

Sponsored

राज्य सरकार ने एचआरसीटी, एंबुलेंस शुल्क, प्राइवेट अस्पतालों के शुल्क को लेकर दरों का निर्धारण किया है लेकिन उनका कड़ाई से पालन नहीं हो रहा है.

Sponsored

बिहार में रोज़ाना 10 हज़ार के क़रीब संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं और 60 से अधिक मौतें हो रही हैं. बिहार में अब तक कोरोना से 3,282 लोगों की जान जा चुकी है.

Sponsored

कल यानी रविवार के दिन राज्य में 11,259 नए केस सामने आए और 67 लोगों की जान गई.

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Sponsored

Input:BBC

Sponsored
Sponsored
Sponsored
Editor

Leave a Comment
Share
Published by
Editor
Sponsored
  • Recent Posts

    Sponsored