BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर के कुढ़नी में निरीक्षण करने पहुंचे DM, राजस्व कर्मचारी पर कार्यवाई के दिए आदेश

जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह ने आज कुढ़नी प्रखंड के छाजन हरिशंकर पूर्वी पंचायत एवं छाजन हरि शंकर पश्चिमी पंचायत में जिला पंचायती राज विभाग एवं पीएचईडी के द्वारा क्रियान्वित योजना हर “हर घर नल का जल”का निरीक्षण किया गया।

Loading...
Sponsored

 

 

छाजन हरिशंकर पूर्वी

Loading...
Sponsored

छाजन हरिशंकर पूर्वी पंचायत में वार्ड नंबर 11 में उन्होंने नल जल योजना के क्रियान्वयन का निरीक्षण किया। उक्त वार्ड के लाभुकों के द्वारा बताया गया कि दो साल से पानी नियमित रूप से मिल रहा है। मुखिया द्वारा बताया गया कि कुल 13 वार्डो में से 11 में योजना पूर्ण है जबकि एक वार्ड में कार्य प्रगति पर है और एक वार्ड में राशि के अभाव में कार्य बाधित है। जिलाधिकारी द्वारा कुढ़नी प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देशित किया गया कि राशि की उपलब्धता सुनिश्चित कराते हुए कार्य को शीघ्र ही पूर्ण करावे।

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

 

 

छाजन हरिशंकर – – पश्चिमी

Loading...
Sponsored

कुढ़नी प्रखंड के ही छाजन हरिशंकर पश्चिमी पंचायत में भी निरीक्षण किया गया ।
उक्त पंचायत में पीएचईडी के द्वारा उक्त योजना का क्रियान्वयन किया गया था। पंचायत में कुल 11 वार्ड हैं जिसमें 10 वार्डों में कार्य पूर्ण है। कार्यपालक अभियंता पीएचडी के द्वारा बताया गया कि शेष एक वार्ड में 31 दिसंबर तक कार्य पूर्ण करा लिया जाएगा।

Loading...
Sponsored

 

 

पंचायत सरकार भवन का निरीक्षण

Loading...
Sponsored

वही कुढ़नी प्रखंड के किशनपुर मोहिनी पंचायत में निर्माणाधीन पंचायत सरकार भवन का भी निरीक्षण जिलाधिकारी के द्वारा किया गया। लिंटर लेबल तक कार्य पूर्ण कर लिया गया है। बताया गया कि साढ़े 11 लाख की राशि प्राप्त हुई है थी जो कि व्यय हो चुकी है। जिलाधिकारी द्वारा जिला पंचायती राज पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि राशि उपलब्धता की दिशा में त्वरित कार्रवाई करना सुनिश्चित किया जाए। संबंधित पंचायत सरकार भवन में चारदीवारी का निर्माण मनरेगा से कराने का निर्देश उप विकास आयुक्त को दिया गया।

Loading...
Sponsored

Loading...
Sponsored

 

 

बैठक

Loading...
Sponsored

जिलाधिकारी ने प्रखंड मुख्यालय में विभिन्न योजनाओं विशेषकर हर घर नल का जल योजना की प्रगति की समीक्षा की।बताया गया कि संबंधित प्रखंड के कुल 39 पंचायत में 544 वार्ड हैं जिसमें 25 वार्डों में कार्य प्रगति पर है शेष सभी वार्डों में कार्य पूर्ण है। परंतु पंचायत के तकनीकी सहायकों द्वारा बताया गया कि छोटी-छोटी त्रुटियों के कारण 67 वार्डों में योजना चालू नहीं हो पा रही है। इनमें मुख्य रूप से लो वोल्टेज की समस्या है। जिलाधिकारी द्वारा बीडीओ को निर्देश दिया गया कि इसकी सूची बनाकर विद्युत विभाग को भेजी जाए और एक सप्ताह के अंदर विद्युत विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए उक्त योजनाओं जो लो वोल्टेज के कारण चालू नहीं हो सकी है उसे शीघ्र चालू कराया जाए।

Loading...
Sponsored

*कार्रवाई*
जमरुहा पंचायत में गुणवत्ता की शिकायत प्राप्त हुई।टावर निर्माण में मानक के अनुरूप कार्य नहीं हुआ है। टावर निर्माण में नट बोल्ट के जगह कमजोर वेल्डिंग का प्रयोग किया गया है। इसे लेकर जिलाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि मुखिया और पंचायत सचिव से स्पष्टीकरण पूछे एवं निर्धारित समय के अंदर त्रुटी निराकरण नहीं करने पर राशि की वसूली करने का भी निर्देश दिया गया। मालूम हो कि उक्त टावर निर्माण में गुणवत्ता का पालन नहीं किये जाने पर पूर्व में प्राथमिकी भी दर्ज की गई थी।

Loading...
Sponsored

प्रधानमंत्री आवास योजना, ग्रामीण की भी समीक्षा की गई। वैसे ग्रामीण आवास सहायक आवास निर्माण में जिनकी उपलब्धि 40% से कम है उन पर कार्रवाई की गई है।वे कुढ़नीपंचायत ,चकिया, छाजन पूर्वी,किशुनपुर मोहनी एवं किशुनपुर मधुबन से सम्बन्धित आवास सहायक है।पूछे जाने पर उनके द्वारा संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। जिलाधिकारी ने उन सभी का 50% मानदेय में कटौती करने का निर्देश दिया।साथ ही आवास निर्माण से संबंधित सभी लाभुकों का जांच कराते हुए सत्यापन प्रतिवेदन की मांग जिलाधिकारी द्वारा की गई है। दूसरी तरफ वैसे पांच ग्रामीण आवास सहायक जिनका आवास निर्माण में उपलब्धि 40% से अधिक है उनको प्रशस्ति पत्र देने का निर्णय लिया गया है। इनमें सकरी सरैया, चंद्रहथी, माधोपुर सुस्ता, किनारू और चैनपुर वाजिद पंचायतों के ग्रामीण आवास सहायक है।

Loading...
Sponsored

दाखिल खारिज की समीक्षा के क्रम में पाया गया कि पंचायत छाजन पूर्वी पंचायत के राजस्व
कर्मचारी श्री बैधनाथ राय के के द्वारा लापरवाही बरती गई है। दाखिल खारिज के लगभग 900 आवेदन पेंडिंग थे।इसमें 350 से अधिक आवेदन मार्च 2020 के पहले से पेंडिंग है। पूछने पर उनका जवाब संतोषजनक नहीं था। अंचल अधिकारी को निर्देशित किया गया कि उनके विरुद्ध प्रपत्र-क भरकर विभागीय कार्रवाई की अनुशंसा करें।साथ ही निर्देश दिया गया कि 5 दिन के अंदर सभी पेंडिंग आवेदनों का निस्तारण करना सुनिश्चित करें। तब तक के लिए उनके मानदेय भुगतान पर भी रोक लगा दी गई है।जिलाधिकारी द्वारा कुढ़नी भ्रमण के क्रम में छाजन पूर्वी में किसान चौपाल को संबोधित किया गया तथा किसानों से वार्ता की गई। उप विकास आयुक्त सुनील कुमार झा ,जिला पंचायती राज पदाधिकारी ,संबंधित प्रखंड के वीडियो, कार्यपालक अभियंता पीएचडी भी उपस्थित थे।

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here