ADMINISTRATIONBIHARNationalPolitics

भावुक हुए नीतीश, आंखों से छलका आंसू, कहा— बाढ वालों आपका कर्जदार हूं, आपका ऋण नहीं चुका सकता

 

PATNA : बाढ़ बिजली घर देश की सबसे बड़ी परियोजना है, सीएम भावुक हुए, बिजली घर के शुरू होने से हो रही है खुशी : 15 साल राजपाट चलाने वालों ने बिहार के लिए क्या किया। उस समय सड़कें टूटी हुई थीं और बिजली गुल थी। आज हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। प्रधानमंत्री को भी धन्यवाद देता हूं कि वे सभी चीजों के बारे में सोचते हैं। – सीएम

Loading...
Sponsored

बाढ़ को आजीवन भूल नहीं सकता : बाढ़ में सीएम भावुक हो गए। कहा कि यहां की जनता ने पांच बार सांसद बनाया। इसे आजीवन नहीं भूल सकता। जब तक जीवित रहूंगा, बाढ़ के लोगों को याद रखूंगा। पहले क्षेत्र में घूमा करता था। लेकिन कोरोना के कारण इधर आना कम हो गया है। टीकाकरण तेजी से हो रहा है। सभी लोग कोरोना का टीका अवश्य लें। जिन्होंने टीके की पहलाी डोज ले ली है वह निर्धारित समय पर दूसरी डोज भी लें।

Loading...
Sponsored

मुख्यमंत्री के प्रयास से ही बना बिजली घर : आरके सिंह

Loading...
Sponsored

 

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने कहा कि बाढ़ और बरौनी बिजली घर की स्थापना में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अहम भूमिका रही है। इनके प्रयास से ही इन दोनों बिजली घरों से उत्पादन शुरू हुआ है। नवीनगर बिजली घर के लिए भी सीएम ने ही भूमि अधिग्रहण के कठिन काम को पूरा कराया। बक्सर में 1320 मेगावाट की बिजली इकाई बन रही है। इसका निर्माण भी जल्द ही पूरा हो जाएगा। देश में बिजली के क्षेत्र में हुए कार्यों की चर्चा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत ही एकमात्र देश है जो एक ग्रिड एक फ्रीक्वेंसी पर चलता है। यह 1.12 लाख मेगावाट बिजली पहुंचाने की क्षमता रखती है। वर्ष 2014 के बाद अब तक मोदी सरकार ने 1.58 लाख मेगावाट की उत्पादन क्षमता बढ़ाई है। 2030 तक इसे ढाई लाख मेगावाट करने का लक्ष्य है।

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here