BIHARBreaking NewsSTATE

जिस बक्सर की सीट से पूर्व DGP लड़ना चाहते थे वो अब पूर्व हवलदार के खाते में चली गयी

Gupteshwar Pandey: डीजीपी पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लेकर राजनीति में आने वाले 1987 बैच के आइपीएस अधिकारी गुप्तेश्वर पांडेय पर उनके ही महकमे में 15 साल पूर्व सिपाही की नौकरी करने वाले परशुराम चतुर्वेदी भारी पड़ गये. बक्सर मुफस्सिल थाने के महदा गांव के रहने वाले परशुराम चतुर्वेदी ने 15 साल पूर्व ही अपनी नौकरी छोड़ दी थी. चतुर्वेदी ने भाजपा किसान मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में रहकर इलाके में अपनी पहचान बनायी है. प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य भी रहे.

Sponsored

भाजपा अपनी पारंपरिक सीट को छोड़ने को राजी नहीं हुई

Sponsored

दूसरी ओर अपने सेवा काल से पांच महीने पूर्व 22 सितंबर को वीआरएस लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय के बक्सर या शाहपुर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनने के कयास लग रहे थे. पहले ऐसा लग रहा था कि इन दोनों सीटों में से कोई एक जदयू के खाते में जायेगी. लेकिन, भाजपा हर हाल में अपनी इन पारंपरिक सीटों को छोड़ने को राजी नहीं हुई.

Sponsored

भाजपा ने नामांकन की अंतिम तिथि के एक दिन पूर्व परशुराम चतुर्वेदी को उम्मीदवार घोषित किया

Sponsored

एक बार ऐसा लगा कि गुप्तेश्वर पांडेय को अब भाजपा की सदस्यता स्वीकार करनी होगी. लेकिन, भाजपा ने नामांकन की अंतिम तिथि के एक दिन पूर्व बक्सर की सीट से अपने तपे-तपाये कार्यकर्ता परशुराम चतुर्वेदी को उम्मीदवार घोषित कर दिया.

Sponsored

Sponsored

लोकसभा उपचुनाव में भी पूर्व डीजीपी के उम्मीदवार होने की चर्चा थी

Sponsored

वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट के उपचुनाव में भी पूर्व डीजीपी के उम्मीदवार होने की चर्चा थी, पर बुधवार को जदयू ने वहां से पूर्व सांसद वैद्यनाथ महतो के बेटे सुनील कुमार को अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया. खास यह कि उनके साथ काम करने वाले डीजी पद से रिटायर हुए उनकी ही 1987 बैच के आइपीएस अधिकारी सुनील कुमार को जदयू ने भोरे सुरक्षित सीट से उम्मीदवार घोषित कर दिया.

Sponsored

गुप्तेश्वर पांडेय देश-दुनिया में चर्चित रहे

Sponsored

हाल के दिनों में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मौत मामले में अपनी सक्रियता के कारण गुप्तेश्वर पांडेय देश-दुनिया में चर्चित रहे हैं. श्री पांडेय एक बार पहले भी 2009 में वीआरएस लेने की कोशिश की थी. लेकिन, उनका आवेदन स्वीकृत नहीं हुआ और वह पुन: नौकरी में आ गये.

Sponsored

इस बार नहीं लड़ रहा विस चुनाव : गुप्तेश्वर

Sponsored

पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि वह इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. उन्होंने बुधवार की देर रात करीब 10:45 बजे फेसबुक पर पोस्ट कर कहा कि मैं अपने शुभचिंतकों के फोन से परेशान हू्ं. उनकी चिंता व परेशानी को भी समझता हूं.

Sponsored

मेरे सेवामुक्त होने के बाद सबको उम्मीद थी कि मैं चुनाव लड़ूंगा, लेकिन मैं इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहा. हताश-निराश होने की कोई बात नहीं है. धीरज रखें. मेरा जीवन संघर्ष में ही बीता है. मैं जीवन भर जनता की सेवा में रहूंगा. अपनी जन्मभूमि बक्सर की धरती व वहां के सभी जाति-मजहब के सभी बड़े-छोटे भाई-बहनों को पैर छूकर प्रणाम.

Sponsored

Sponsored

Input: PK

Sponsored
Sponsored
Share this Article !

Comment here