AccidentADMINISTRATIONAUTOMOBILESBankBIHARBreaking NewsBUSINESSCRIMEDELHIMUZAFFARPURNationalPATNAPoliticsSTATEUncategorized

चिराग को आखिरकार सौतेली माँ-बहन की हाय ने किया बर्बाद, रामविलास ने पहली पत्नी को कभी नहीं अपनाया

पासवान की बेटी का दर्द- पापा हमें बहुत प्यार करते थे, चिराग भैया की मां ने सबको उनसे दूर कर दिया : छोटी मां…आपने ऐसा क्यों किया।’ ये कहकर आशा पासवान की आंखें डबडबा जाती हैं। आशा, रामविलास पासवान और उनकी पहली पत्नी राजकुमारी देवी की छोटी बेटी हैं। रामविलास पासवान के बारे में सवाल करते ही आशा फूट-फूटकर रोने लगती हैं। कहती हैं- हम पापा से मिलना चाहते थे, लेकिन मैडम ने मना कर दिया। मैडम कौन, ये पूछने पर आशा कहती हैं – छोटी मां। यानि रीना पासवान।

Loading...
Sponsored

आगे कहती हैं- पहले उन्हें छोटी मां कहती थी, लेकिन अब मन नहीं करता। पापा हम सबको माला की तरह एकसाथ जोड़कर रखना चाहते थे, लेकिन मैडम ने हमें जानबूझकर उनसे दूर किया। पापा की तबीयत खराब है, ये जानकर मैं और मेरे पति उनसे मिलने जाना चाहते थे। लेकिन फोन किया तो मैडम ने कहा – लॉकडाउन है, कहां आओगी। आंखों में आंसू लिए आशा कहती हैं – हमने तो फ्लाइट की टिकट भी ले ली थी।

Loading...
Sponsored

मेरी बनाई कचरी, घुघनी और मछली पसंद थी पापा को : रामविलास पासवान की बेटी, आशा पासवान की उम्र 46 साल है। वो कहती हैं – मेरी तबियत इन दिनों थोड़ी खराब रहती है। 6 महीने पहले और ज्यादा खराब थी। मैं इलाज के लिए दिल्ली गई थी। वहीं पापा मिलने आये थे। मेरी हालत देखकर रोने लगे थे। उन्हें हमारी चिंता हमेशा रहती थी। हमें एकसाथ जोड़कर रखना चाहते थे।

Loading...
Sponsored

आशा बताती हैं, 2015 में अपनी बड़ी बेटी की शादी की थी। ये शादी हमारे राजेन्द्र नगर वाले घर से हुई थी। पापा लगातार तीन दिन इसी घर में रहे थे। उन्हें मेरे हाथों की कचरी, चने की घुघनी और मछली पसंद थी। जब भी आते थे, यही सब खाना बनवाते थे। उन्हें खाने में भुट्‌टा भी बहुत पसंद था।

Loading...
Sponsored

जब पासवान ने खरीदी थी लिपस्टिक : आशा की छोटी बेटी तान्या अपने नाना को याद करती हुई बेहद गुमशुम दिखती हैं। कहती हैं – मैं तब 5वीं क्लास में पढ़ती थी। मुझे मेकअप का बड़ा शौक था। हमेशा अपने पास एक छोटा सा हैंडबैग रखती थी। एकबार नानाजी ने कहा – तनु अपना बैग दिखाओ। देखूं, क्या-क्या रखती हो? उन्होंने मेरे बैग से एक लिपस्टिक निकाली जो टूटी थी। देखकर हंसने लगे और फिर मेरे लिए एक नई लिपस्टिक खरीदी। मुझे आज भी ये बात याद है। नानाजी से जब भी कुछ मांगा, उन्होंने हमेशा दिया। कई बार तो बिना मांगे ही बहुत सारी चीजें खरीदकर दी।

Loading...
Sponsored

 

 

 

input – daily bihar

Loading...
Sponsored
Loading...
Sponsored
Share this Article !

Comment here